पश्चिम बंगाल चुनाव 2021 : दिहाड़ी मजदूर की पत्नी बनीं BJP विधायक, जानिए इनके बारे में

पश्चिम बंगाल विधानसभा का चुनाव कई मामलों में खास रहा है। भारतीय जनता पार्टी के बड़े-बड़े सूरमाओं को धूल चटा कर ममता बनर्जी तीसरी बार मुख्यमंत्री बनने जा रही हैं लेकिन वह खुद अपनी सीट नंदीग्राम में शुभेंदु अधिकारी के हाथों हार गई हैं।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल विधानसभा का चुनाव कई मामलों में खास रहा है। भारतीय जनता पार्टी के बड़े-बड़े सूरमाओं को धूल चटा कर ममता बनर्जी तीसरी बार मुख्यमंत्री बनने जा रही हैं लेकिन वह खुद अपनी सीट नंदीग्राम में शुभेंदु अधिकारी के हाथों हार गई हैं। वही सालतोड़ा विधानसभा क्षेत्र के लोगों ने भी एक मिसाल कायम की है। यहां नौकरानी का काम करने वाली चंदना बाउरी को जीत मिली है जो भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ी थीं। वह बंगाल के सबसे निर्धन उम्मीदवारों में से हैं। उनके पति दिहाड़ी मजदूर हैं और वे तीन बच्चों की मां हैं।

Chandana Bauri

चंदना बाउरी पैसे की तंगी पर लोगों के घरों में काम करती रही हैं। चंदना को टिकट देने की अनुशंसा संघ ने भाजपा के शीर्ष नेतृत्व से की थी जिसके बाद उन्हें उम्मीदवार बनाया गया था। अब वह राज्य विधानसभा में यहां पहुंच गई हैं। तृणमूल कांग्रेस के बेहतरीन प्रदर्शन के बीच वह जीत हासिल करने में सफल रहीं हैं। 30 वर्षीय चंदना ने बांकुरा जिले की सालतोड़ा विधानसभा सीट पर तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार संतोष कुमार मण्डल को 4 हजार,145 वोटों से मात दी है।

मिथुन चक्रवर्ती ने चंदना का प्रचार किया था

भाजपा का टिकट मिलने के बाद एक बातचीत में उन्होंने बताया था कि उन्हें इसका जरा भी अंदाजा नहीं था। भाजपा की लिस्ट में नाम आने के बाद स्थानीय नेतृत्व ने उन्हें उम्मीदवारी की सूचना दी थी। चुनावों से पहले भाजपा में शामिल हुए अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती ने सालतोड़ा क्षेत्र से चंदना का प्रचार किया था। इसके बाद चंदना बाउरी ने कहा था कि, “मिथुन चक्रवर्ती द्वारा मेरे विधानसभा क्षेत्र से चुनाव प्रचार आरंभ किया जाना मेरे लिए गर्व की बात है।

चारों तरफ से शाबाशी मिल रही

वह अपनी दो बेटियों और एक बेटे को अपनी माँ और सास के साथ घर में छोड़ चुनाव प्रचार करने जाती थीं। कभी-कभी उनके पति भी उनके साथ जाते थे जो कि एक कंस्ट्रक्शन कंपनी में दिहाड़ी श्रमिक हैं। जब भाजपा ने उन्हें उम्मीदवार बनाया था, तब वह पूरे देश में सुर्खियों में छा गई थीं और अब जब वह जीत चुकी हैं तब एक बार फिर उन्हें चारों तरफ से शाबाशी मिल रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *