कुवैत में बंधक बना युवक लौटा घर, स्मृति ईरानी को दिया धन्यवाद

घर आकर उसने स्मृति ईरानी को धन्यवाद कहा है़।

फुसरतगंज थाना क्षेत्र के कस्बा निवासी मोहम्मद अनीस कुवैत में बंधक बना लिया गया था, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की मदद के बाद वो सकुशल अपने घर वापस लौट आया है। घर आकर उसने स्मृति ईरानी को धन्यवाद कहा है़।

Kuwait returned home

दो दिन पूर्व कुवैत से घर लौटे अनीस ने यहां पहुंचकर सबसे पहले अपनी सांसद स्मृति ईरानी को धन्यवाद दिया। उसने बताया कि बीजेपी कार्यकर्ताओं के माध्यम से स्मृति ईरानी से बात हुई थी। उन्होंने हमसे बात करने के बाद कुवैत एंबेसी से बात किया। और तत्काल दस दिन में हमें आजाद करवाया। पीड़ित मोहम्मद अनीस ड्राइवर के वीजे पर 18 जनवरी को मुंबई से बाई फ्लाईट कुवैत पहुंचा था। उसे एजेंटों ने ये वीजा दिया था। कुवैत पहुंचकर उससे घर की साफ सफाई का काम लिया जाने लगा।

आखिर 6 महीनों से प्रताड़ना बर्दाशत करते हुए अनीस ने एक वीडियो जारी किया था। जारी वीडियो में अनीस ने कहा था कि 18 जनवरी को कुवैत पहुंचा, एजेंटो ने फंसा दिया। सर ना यहां मुझे खाना दिया जाता है, न तनख्वाह दिया जाता है मैं मर जाऊंगा।

मुझे पुलिस वाले इतना मारते हैं-इतना मारते हैं की जीने का दिल नहीं करता। लेकिन अभी मेरे एक लड़का हुआ है, मैं अभी अपने लड़के की शक्ल नहीं देखा हूं। मैं अपने इंडिया वापस आना चाहता हूं मुझे अपना हिंदुस्तान बहुत प्यारा है।

हमारे प्रधानमंत्री मोदी, मुख्यमंत्री योगी गरीबों की बहुत मदद करते हैं, सांसद स्मृति ईरानी से अपील है कि हमें यहां से निकाला जाए। मैंने कम्प्लेन भी किया है मेरी सुनवाई नहीं हो रही। मेरी कफील बोलती है के तुम फांसी लगाकर मर जाओ, तुम्हे मैं कचरे के डिब्बे में फेकवा दूंगी। लेकिन तुम्हे इंडिया नहीं जाने दूंगी, इंडिया की सरकार मेरा कुछ नहीं कर पाएगी। प्लीज मोदी जी, प्लीज योगी जी, प्लीज स्मृति जी हमारी मदद की जाए। हमारे पापा से संपर्क किया जाए, हमारे पापा बहुत परेशान हैं हर जगह चक्कर लगा रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *