पति से नाराज मां ने खाने में जहर देकर बेटी को मार डाला

img


यूपी किरण ब्यूरो

लखनऊ/कानपुर।। घाटमपुर थाने के तरगांव में पति से विवाद से क्षुब्ध महिला से जब उसकी बेटी ने खाना मांगा तो उसने जहर पिला दिया। अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई। तरगांव का रमेश गुप्ता साइकिल पर कपड़े की फेरी लगाता है।

सुबह भोजन बनाने को लेकर उसका पत्नी रेखा से विवाद हो गया। आरोप है कि रमेश ने रेखा की गला दबाकर पिटाई कर दी थी। इससे क्षुब्ध होकर उसने भोजन नहीं बनाया।

दोपहर करीब 12 बजे गांव के ही स्कूल में कक्षा 4 में पढऩे वाली 11 वर्षीय पुत्री अंशिका घर लौटी और 4 वर्षीय बहन नैंसी एवं 3 वर्षीय भाई विशाल के साथ मां के पास जाकर खाना बनाने की जिद करने लगी। इससे नाराज होकर रेखा ने अंशिका को चूहा मारने की दवा को लोटे में घोलकर पिला दिया। इसके बाद अंशिका भागती हुई बाजार में दुकान लगाए पिता के पास पहुंची और इसकी जानकारी दी।

रमेश अंशिका को लेकर घर पहुंचा और पड़ोसियों की मदद से उसे पानी पिला उल्टी कराने का प्रयास करने लगा। हालत बिगडऩे पर पतारा सीएचसी ले गया। जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सीओ राजेश पांडेय ने बताया कि रमेश की तहरीर पर रेखा पर हत्या का मुकदमा लिखा गया है। रेखा को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

जहर देने के बाद किया पछतावा

रेखा को बेटी अंशिका की हालत बिगडऩे पर अपने किए पर पछतावा होने लगा और वह उसकी जिंदगी के लिए जद्दोजहद करने लगी, हालांकि तब तक तो बेटी की जान जा चुकी थी। पति व पड़ोसी जब अंशिका को लेकर पतारा सीएचसी के लिए निकले तो रेखा का दिल तड़प उठा।

अपने पास मौजूद करीब दो हजार रुपये समेटने के बाद उसने एक पड़ोसी से 10 हजार रुपये कर्ज लिए और अंशिका के इलाज के लिए भागते हुए पतारा पहुंची, लेकिन इससे पहले ही अंशिका की सांसें थम चुकी थीं। जहर पिलाकर बेटी को मार डालने के आरोप को नकार रही रेखा बेटी के खुद चूहा मार दवा पीने की बात कह रही थी।

फोटोः प्रतीकात्मक

Related News