Fake Shopping website बना कर लोंगों को ठग रहे Hackers, जानें बचने का तरीका

जब से इंटरनेट का जमाना आया है तब से बहुत कुछ काफी आसान हो गया है। अब अधिकतर काम घर बैठे हो जाते हैं। यहां तक की शॉपिंग (Fake Shopping website) भी। एक समय था जब...

जब से इंटरनेट का जमाना आया है तब से बहुत कुछ काफी आसान हो गया है। अब अधिकतर काम घर बैठे हो जाते हैं। यहां तक की शॉपिंग भी। एक समय था जब शॉपिंग (Fake Shopping website) का मतलब बाजार जाना होता था। ऑनलाइन शॉपिंग (Online Shopping) शहरों और कस्बों में काफी लोकप्रिय हो गई है लेकिन अब हैकर्स भी लोगों की इसी आदत का फायदा उठाने लगे हैं। हैकर्स नकली शॉपिंग वेबसाइट्स के साथ लोगों को ठगने के लिए तैयार बैठे हैं।

Fake Shopping website

इंटरनेट के माध्यम से खरीदारी करने में हुई जरा सी भी चूक ग्राहकों को भारी नुकसान पहुंचा सकती हैं। कम दाम में सामान बेचने वाली वेबसाइट्स (Fake Shopping website) में फंसकर कई उपभोक्ता ठगी का शिकार हो रहे हैं। यूजर जाने-अनजाने में जालसाजों के चक्कर में फंस जाते और बदले में उन्हीं ठगों द्वारा कटी-फटी साड़ियां और डमी फोन भेज दिए जाते हैं।

Fake Shopping website ने हजारों को ठगा

Wellbuymall.com एक ऐसा पोर्टल है जिसने हजारों भारतीय यूजर्स को अपना शिकार बनाया है। वेबसाइट (Fake Shopping website) ने लोंगों को गैजेट्स खरीदने का लालच दिया और भुगतान करने के तुरंत बाद गायब हो गए। मौजूदा समय में ये वेबसाइट निष्क्रिय है। Wellbuymall.com के URL पर अब उपयोगकर्ताओं को एक चीनी मैसेज दिखाई दे रहा है, जो “Site Not Found. Your request did not find the corresponding site in the webserver!” का अनुवाद करता है।

कैसे बने शिकार

धोखाधड़ी के शिकार लोगों में से एक सुजीत वर्मा ने अपना अनुभव शेयर करते हुए बताया कि उन्होंने एक ऑर्डर दिया और ऑनलाइन भुगतान किया, लेकिन वेबसाइट (Fake Shopping website) ने प्रोडक्ट डिलीवर नहीं किया और अब यह अस्तित्व में भी नहीं है। सुनील गुप्ता नाम के एक अन्य पीड़ित ने अपना अनुभव शेयर करते हुए बताया कि उन्होंने एक एसएसडी का ऑर्डर दिया थालेकिन भुगतान किए जाने के बाद, वेबसाइट ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी और न ही प्रोडक्ट भिजवाया।

नकली शॉपिंग वेबसाइट्स से खुद को ऐसे बचाएं

  • आप इंटरनेट से कंपनी की वेबसाइट की सत्यता के बारे में जानकारी हासिल कर सकते है। कई ऑनलाइन पोर्टल कंपनी के पंजीकरण और इसकी वैधता के बारे में जानकारी देते हैं। (Fake Shopping website)
  • कॉपीराइट ऑप्शन की जांच करें और वैट आईडी (VAT ID) देखें।
  • वेबसाइट के होम पेज पर जाएं और कॉन्टैक्ट पर क्लिक करें। अगर आपको पता (एड्रेस) जैसी जानकारी नहीं मिलती है, तो ऐसी साइटों से खरीदारी करने से बचें।
  • वेबसाइट लिंक में HTTP चेक करें (Fake Shopping website)

डिस्काउंट और कैशबैक मिलने की वजह से अधिकतर ग्राहक ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट्स (Fake Shopping website) पर खरीदारी करते हैं। अगर आपको किसी वेबसाइट पर बहुत कम कीमत में कोई प्रोडक्ट मिल रहा है तो ध्यान दें कि इसमें कुछ फ्रॉड हो सकता है।

लखीमपुर खीरी कांड में सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बाद जागी उत्तर प्रदेश पुलिस, सांसद पुत्र लापता, दो हुए गिरफ्तार

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *