तुलसी के सूखे पत्ते बदल देंगे आपकी किस्मत, बस करें ये उपाय

नई दिल्ली: हिंदू मान्यता के अनुसार तुलसी का पौधा बेहद पवित्र होता है. इसे केवल एक पौधा नहीं माना जा सकता। इसके औषधीय गुणों के कारण इसे एक प्रकार की औषधि कहा जाता है। इस पौधे के होने से सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है। इस पौधे में विटामिन और खनिज प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। तुलसी का पौधा ऑक्सीजन का उत्सर्जन करता है जो जीवन के लिए बहुत उपयोगी है। इसकी दो प्रजातियां हैं। सफेद और कृष्ण। तुलसी के पत्तों का ज्योतिषीय उपाय करने से मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है। उनकी कृपा से धन-धान्य की वर्षा होती है। और मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त करें।

तुलसी के पौधे के फायदे

तुलसी के सभी अंगों का अपना-अपना महत्व है, शाखा, बीज, पत्ती, जड़ सभी के अपने-अपने फायदे हैं।
सर्दी-खांसी, सांसों की दुर्गंध, शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने, तनाव दूर करने, वजन कम करने, रतौंधी, सांप के काटने, हृदय रोग, बालों के झड़ने में तुलसी बहुत फायदेमंद है।
ऐसा माना जाता है कि जिस घर में तुलसी का पौधा होता है, वहां हमेशा सुख, शांति और समृद्धि बनी रहती है।
तुलसी के सूखे पत्तों का महत्व

तुलसी का महत्व अमृत के समान माना गया है। तुलसी की हरी पत्तियों के अलावा सूखे पत्तों का भी बहुत महत्व है। यह हमारे भाग्य को रोशन कर सकता है।

जो बच्चे पढ़ाई में कमजोर होते हैं वे अपनी किताब के बीच में तुलसी का एक सूखा पत्ता रखते हैं, इससे उनमें आत्मविश्वास की भावना पैदा होती है और सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है और उनका पढ़ाई के प्रति रुझान होता है।
तुलसी के सूखे पत्तों को लाल कपड़े से बांधकर अपने घर के संदूक, आलमारी या तिजोरी में रखने से लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है और घर में सुख-शांति आती है।
तुलसी के सूखे पत्तों को पानी में डालकर बाल गोपाल को भगवान कृष्ण के रूप में स्नान कराया जाता है, यह चमत्कारी लाभ भी देता है क्योंकि तुलसी को देवी लक्ष्मी का रूप माना जाता है।
तुलसी के सूखे पत्तों को पानी में मिलाकर गंगाजल में मिलाकर पूरे घर में छिड़कने से घर से नकारात्मक ऊर्जा का नाश होता है और सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।
तुलसी के सूखे पत्तों को पानी में डालकर स्नान करने से शरीर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होता है।