6 करोड़ लोगों के लिए राहत की खबर, जानें EPFO बोर्ड का बड़ा फैसला

ईपीएफओ ने भविष्य निधि जमा पर ब्याज दर को 8.5 प्रतिशत पर रखा बरकरार

6 करोड़ लोगों के लिए राहत की खबर सामने आई है। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने भविष्य निधि जमा पर ब्याज दरों को 2020-21 के लिए 8.5 प्रतिशत बनाए रखा है।

people in office

EPFO के केंद्रीय न्यासी बोर्ड ने वित्त वर्ष-2021 के लिए अपने ग्राहकों के संचित EPFO पर 8.50 प्रतिशत वार्षिक ब्याज देने की सिफारिश की है। अधिकारिक रूप से सरकारी गजट में अधिसूचित होने के बाद ब्याज दर EPFO ग्राहकों के खाते में जमा की जाएगी।

कयास लगाए जा रहे थे कि कोरोनावायरस महामारी के कारण कर्मचारियों की निकासी और कम योगदान के कारण EPFO इस वित्त वर्ष (2020-21) के लिए भविष्य निधि जमा पर ब्याज कम कर सकता है।

श्रम मंत्रालय के मुताबिक न्यासी बोर्ड की 228वीं बैठक गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में श्रम और रोजगार मंत्री संतोष कुमार गंगवार की अध्यक्षता में हुई। बैठक में उपाध्यक्ष और मंत्रालय में सचिव अपूर्व चंद्रा तथा सदस्य सचिव केंद्रीय भविष्यनिधि आयुक्त सुनील बर्थवाल शामिल रहे।

EPFO ने वित्त वर्ष 2014 से निरंतर 8.50 प्रतिशत से अधिक का लाभ दिया है। 2015-16 के दौरान ब्याज दर 8.8 प्रतिशत, 2016-17 के दौरान 8.65 प्रतिशत और 2017-18 के दौरान 8.55 रही है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *