मास्टर प्लान: PM Modi ने की गति शक्ति योजना की शुरुआत, जानें किन्हें मिलेगा फायदा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने आज यानी बुधवार को मल्टी-मॉडल कनेक्टिविटी के लिए समग्र योजना को संस्थागत रूप देकर विभिन्न एजेंसियों के बीच...

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने आज यानी बुधवार को मल्टी-मॉडल कनेक्टिविटी के लिए समग्र योजना को संस्थागत रूप देकर विभिन्न एजेंसियों के बीच समन्वय स्थापित करने के मकसद से  गति शक्ति योजना की शुरुआत की। यह योजना भी पीएम मोदी के ‘आत्मनिर्भर भारत’ का एक अहम हिस्सा है। इस योजना का मकसद 1.5 ट्रिलियन डॉलर की राष्ट्रीय इन्फ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन के अंतर्गत परियोजनाओं को अधिक शक्ति और गति देने के साथ ही 5 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था को प्राप्त करने के लक्ष्य को बढ़ावा देना है। इसे देश के बुनियादी ढांचे के परिदृश्य के लिए एक अहम् बताते हुए पीएमओ ने कहा कि गतिशक्ति परियोजना विभागीय रुकावटों को खत्म कर देगी।

PM Modi-GATI SHAKTI YOJNA

पीएम (PM Modi) ने महाअष्टमी के पावन पर्व पर नई दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित ‘गति शक्ति’ इवेंट में रिमोट बटन दबाकर योजना की शुरुआत की। इससे पहले उन्होंने गति शक्ति मास्टर प्लान और प्रगति मैदान में नए प्रदर्शनी परिसर के मॉडल की समीक्षा की। प्रधानमंत्री की इस महत्वाकांक्षी योजना में 16 केंद्रीय मंत्रालयों और विभागों द्वारा नियोजित और शुरू की गई ढांचागत पहलों को एकजुट करने के लिए एक केंद्रीकृत पोर्टल की परिकल्पना की गई है।

सभी विभागों को एक केंद्रीकृत पोर्टल के जरिये से एक-दूसरे की परियोजनाओं का पता चलेगा और मल्टी-मॉडल कनेक्टिविटी लोगों, वस्तुओं और सेवाओं के आदान-प्रदान के लिए एकीकृत और निर्बाध कनेक्टिविटी प्रदान करेगी। पीएमओ (PM Modi) ने कहा कि गतिशक्ति परियोजना व्यापकता, प्राथमिकता, अनुकूलन, समकालीन और विश्लेषणात्मक तथा गतिशील होने के छह स्तंभों पर आधारित है। यह बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर पैदा करेगा, रसद लागत में कटौती करेगा, आपूर्ति श्रृंखला में सुधार करेगा और स्थानीय वस्तुओं को विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धी बना देगा।
यह आगामी कनेक्टिविटी परियोजनाओं, अन्य व्यावसायिक केंद्रों, औद्योगिक क्षेत्रों और आसपास के वातावरण के बारे में लोगों और व्यावसायिक समुदाय की जानकारी प्रदान करेगी।निवेशकों को उपयुक्त स्थानों पर अपने व्यवसाय की योजना बनाने में भी मदद मिलेगी। मल्टी-मॉडल कनेक्टिविटी लोगों, वस्तुओं और सेवाओं के परिवहन के एक साधन से दूसरे मोड में आवाजाही के लिए एकीकृत और निर्बाध संपर्क प्रदान करेगी। यह बुनियादी ढांचे की अंतिम गंतव्य कनेक्टिविटी की सुविधा और लोगों के लिए यात्रा के समय को भी कम करने में सहायक होगी।(PM Modi)
दिल्ली VS कोलकाता में किस टीम का होगा दबदबा? जानें किसे मिल सकता है फाइनल टिकट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *