पीएम मोदी की खतरनाक रणनीति, मालदीव में चीन का प्लान हुआ फेल!

img

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी निरंतर यूपीआई पेमेंट सेवा को बढ़ावा दे रहे हैं। इसी के चलते UPI ऑनलाइन पेमेंट सिस्टम न केवल हिंदुस्तान में बल्कि विदेशों में भी लोकप्रिय है। इस UPI पेमेंट सिस्टम की ताकत से चीन और पाकिस्तान जैसे मुल्क भी हैरान हैं। ऐसे में अब चीन और मालदीव के बीच बढ़ती नजदीकियों के समाधान के तौर पर यूपीआई एक कारगर कदम साबित हो रहा है।

श्रीलंका-मॉरीशस बनेंगे नए पर्यटक स्थल

चीन की ओर झुकना मालदीव को महंगा पड़ेगा। क्योंकि भारत ने चीन को घेर लिया है और मालदीव को भी डिजिटली घेर लिया है। सीधे शब्दों में कहें तो मालदीव भारतीयों के लिए एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। वहां हर साल लाखों टूरिस्ट आते हैं। लेकिन अब भारतीय पर्यटक लक्षद्वीप के साथ-साथ श्रीलंका और मॉरीशस का भी रुख कर सकते हैं। क्योंकि मोदी सरकार ने इन देशों में ऑनलाइन पेमेंट सुविधा UPI लॉन्च कर दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीलंका और मॉरीशस में वर्चुअली UPI सेवा लॉन्च की है।

मालदीव को होगा भारी नुकसान

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, यूपीआई सेवा से भारत, मॉरीशस और श्रीलंका में पर्यटन बढ़ाने में मदद मिलेगी। उम्मीद है कि पर्यटक उन देशों में यात्रा करने में अधिक रुचि दिखाएंगे जहां यूपीआई सेवा उपलब्ध है। पीएम मोदी के इस बयान से पर्यटकों का रुझान मालदीव की बजाय श्रीलंका और मॉरीशस की ओर बढ़ सकता है। इससे मालदीव को भारी आर्थिक झटका लगने की आशंका है। इतना ही नहीं चीन की मालदीव योजना को भी करारा झटका लग सकता है।

Related News