हाइपरसोनिक स्पीड फ्लाइट के सफल परीक्षण पर पीएम मोदी ने दी बधाई, बोले दुश्मन को बचने तक का मौका नही

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन ने सोमवार को ओडिशा तट के पास डॉ अब्दुल कलाम द्वीप से मानव रहित स्क्रैमजेट के हाइपरसोनिक स्पीड फ्लाइट का सफल परीक्षण कर लिया है।

नई दिल्ली: रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन ने सोमवार को ओडिशा तट के पास डॉ अब्दुल कलाम द्वीप से मानव रहित स्क्रैमजेट के हाइपरसोनिक स्पीड फ्लाइट का सफल परीक्षण कर लिया है। बता दे हाइपरसोनिक क्रूज मिसाइल प्रणाली के विकास को आगे बढ़ाने के लिए आज का यह परीक्षण एक बड़ा कदम है। वहीं इसके लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैज्ञानिकों को इसके लिए बधाई दी है। और उनकी तारीफ भी की है। पीएम मोदी ने ट्वीटकर कहा ‘आज हाइपरसोनिक टेस्ट डिमॉन्स्ट्रेशन व्हीकल की सफल उड़ान के लिए डीआरडीओ को शुभकामनाएं। हमारे वैज्ञानिकों ने स्क्रैमजेट इंजन विकसित करने में सफलता हासिल कर ली है।

इसकी गति ध्वनि की गति से छह गुना ज्यादा होगी। और बहुत कम देशों के पास ऐसी क्षमता है।

क्या खासियत होगी

आपको बता दे एचएसटीडीवी (हाइपरसोनिक टेक्नोलॉजी डिमॉन्स्ट्रेटर व्हीकल) हाइपरसोनिक स्पीड फ्लाइट के लिए मानव रहित स्क्रैमजेट प्रदर्शन विमान है। जो विमान 6126 से 12251 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से उड़े। उसे हाइपरसोनिक विमान कहते हैं। भारत के एचएसटीडीवी का परीक्षण 20 सेकंड से भी कम समय का था। 12,251 किलोमीटर प्रति घंटा यानी 3.40 किलोमीटर प्रति सेकेंड की गति इतनी गति से जब यह दुश्मन पर हमला करेगा तो उसको बचने का मौका तक नहीं मिलेगा। जिससे वह संभल पाए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *