चोर की जान बचाने के लिए पुलिसकर्मी अपनी ज़िंदगी का लगाया दांव, फिर कमिश्नर ने कर दिया ये काम

प्राइवेट फर्म के सेल्स एग्जीक्यूटिव को कथित तौर पर मारा और उससे सोने की चेन, मोबाइल फोन और 3,000 रुपये नगद छीन लिए.

चोर-पुलिस के रिश्ते में हमेशा 36 का आंकड़ा बना रहता है, लेकिन इस बार कुछ अलग मामला नज़र आया. आपको बता दें कि तमिलनाडु (Tamilnadu) के धर्मापुरी स्थित थोप्पुर गांव में एक संदिग्ध चोर को बचाने के लिए पुलिसकर्मी ने 25 फीट गहरे कुंए में छलांग लगा दी. दरअसल, पुलिस यहां तीन आरोपियों को पकड़ने के मकसद से आई थी. तीनों पर येलहांका में 3 अक्टूबर को चोरी करने का आरोप है.

police

वहीँ इतना ही नहीं उन्होंने प्राइवेट फर्म के सेल्स एग्जीक्यूटिव को कथित तौर पर मारा और उससे सोने की चेन, मोबाइल फोन और 3,000 रुपये नगद छीन लिए. सेल्स एग्जीक्यूटिव की शिकायत के आधार पर येलहंका पुलिस थाना निरीक्षक के.पी. सत्यनारायण और उनकी टीम ने सीसीटीवी फुटेज देखी और संदिग्धों को पहचाना गया. उनकी गिरफ्तारी के लिए एक टीम गई, लेकिन आरोपी थोप्पुर गांव भाग गए थे.

आपको बता दें कि रविवार की रात सत्यनारायण, शिवकुमार और अन्य लोग गांव पहुंचे और तीनों संदिग्ध चोरों को घेर लिया. इस दौरान तीनों आरोपी भाग निकले, लेकिन उनमें से एक कुएं में जा गिरा और डूबने लगा. एक पुलिस अधिकारी ने बताया ‘जंगली इलाका होने के कारण वहां बहुत अंधेरा था. आरोपी का पीछा कर रहे शिवकुमार को खतरे का आभास होते हुए उसने बिना समय बर्बाद किए एक जीप से रस्सी बांधी और खुद कुएं में उतर गया.’

वहीँ बताते चले कि अन्य कर्मचारियों की मदद से आरोपी और शिवकुमार को बाहर निकाला गया. आरोपी को तैरना नहीं आता था और वह शराब के नशे में था. पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘उसे पूछताछ के लिए वापस थाने लाया गया, जबकि उसके साथियों का पता लगाने की कोशिश जारी है.’ पुलिस कमिश्नर कमल पंत ने शिवकुमार की बहादुरी के लिए प्रशंसा करते हुए ईनाम का ऐलान भी किया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *