Rituals : आज गंगा घाटों पर श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ने की संभावना है !

श्राद्ध पक्ष की पितृ अमावस्या बुधवार छह अक्तूबर को हिंदू धर्मावलंबियों द्वारा श्रद्धापूर्वक मनाई जाएगी।

हरिद्वार: श्राद्ध पक्ष की पितृ अमावस्या बुधवार छह अक्तूबर को हिंदू धर्मावलंबियों द्वारा श्रद्धापूर्वक मनाई जाएगी। इस अवसर पर गंगा घाटों पर श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ने की संभावना है। वहीं नारायणी शिला मंदिर के कपाट 11 बजे तक बंद रहेंगे। इसके बाद श्रद्धालु थान पर पूजा कर सकेंगे। यहां पर तर्पण कार्यक्रम नहीं होगा। बुधवार को मंदिर के पास मेला भी लगता है । तुलसी चौक से नारायणी शिला होते हुए देवपुरा जाने वाले रास्ते पर किसी भी तरह के वाहनों की आवाजाही बंद रहेगी।

Ganga Ghats

कोराना संक्रमण के चलते वर्ष 2020 में सर्व पितृ अमावस्या पर कुछ बंदिशों के साथ श्रद्धालुओं ने धर्मनगरी में आकर गंगा स्नान कर पूर्वजों का तर्पण किया था। इस बार कोरोना संक्रमण एकदम बहुत कम हो चुका है। ऐसे में बुधवार को होने वाली सर्व पितृ अमावस्या के अवसर पर धर्मनगरी में श्रद्धालुओं का सैलाब नजर आएगा। गुजरात, राजस्थान, मध्यप्रदेश, पूर्वी उत्तर प्रदेश से श्रद्धालु मंगलवार की देर रात तक धर्मनगरी पहुंच गए।

बुधवार को होने वाले स्नान को लेकर हरकी पैड़ी समेत सभी गंगा घाटों पर श्रद्धालु सुबह से ही स्नान शुरू कर देंगे। वहीं देर शाम तक स्नान चलेगा। कुशाघाट समेत पर श्रद्धालु पूजन करने के बाद तर्पण करेंगे। नारायणी शिला मंदिर के मुख्य पुजारी मनोज कुमार त्रिपाठी ने बताया कि मंदिर परिसर में तर्पण कार्यक्रम नहीं होगा। जिन लोगों के थान बने हुए वह पूजा कर सकेंगे।

अमावस्या के स्नान पर्व को लेकर मंगलवार की सुबह से ही श्रद्धालुओं का धर्मनगरी में पहुंचना शुरू हो गया था। होटलों, धर्मशालाओं व लॉज यात्रियों से पैक हो गए। हरकी पैड़ी क्षेत्र समेत अन्य गंगा घाटों पर बाजारों में पुलिस की अतिरिक्त व्यवस्था भीड़ को देखते हुए की गई है। इसके साथ ही चौक चौराहों पर भी पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *