बचना है परेशानियों से तो घर में ना लगाए पीपल का पेड़

नई दिल्ली: वास्तु शास्त्र के अनुसार कुछ पेड़ ऐसे होते हैं, जिन्हें घर में लगाना वर्जित माना जाता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार अगर इन पेड़ों को घर में लगाया जाए तो घर में नकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होने लगता है और इससे उस घर में रहने वाले लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ये पौधे ऐसे होते हैं कि इन्हें घर के अंदर लगाने पर अशुभ माना जाता है। इन्हें लगाने से बरकत कर जगह कंगाली आने लगती है। इसलिए इन पौधों को घर में लगाने से बचना चाहिए। तो आइए आप भी जाने ऐसे कौन से पौधे हैं जिन्हें घर में नहीं लगाना चाहिए।

बरगद और पीपल के वृक्ष को वैसे तो हिन्दू घर्म में पूजनीय माना जाता है। और समय-समय पर इन पेड़ों की पूजा की जाती है, लेकिन इन दोनों पेड़ों को घर तथा घर के आसपास नहीं लगाना चाहिए। इसे घर में लगाने से अशुभ फल प्राप्त होते हैं। घर के मुख्य द्वार के सामने कभी भी कोई पौधा नहीं लगाना चाहिए।

इससे जीवन में परेशानियां बढऩे लगती हैं। ऐसा करने पर हमेशा परिवार के लोगों पर कोई ना कोई संकट छाया रहता है। फलों के पेड़ जैसे आम, जामुन, केला, दूधिया पेड़, महुआ, पीपल और कांटेदार पेड़ जैसे बबूल, बेर का पेड़ आदि को घर के आंगन में कभी भी नहीं लगाना चाहिए। अगर घर के बाहर बगीचा बना हुआ है तो उसमें आप इन पेड़ों को लगा सकते हैं।

घर में जानबूझकर भी आप कांटेदार पेड़ कभी भी नहीं लगाएं। नागफनी जैसे कांटेदार पेड़ों को घर के भीतर कभी भी नहीं लगाना चाहिए। केवल गुलाब का पौधा आप घर के अंदर लगा सकते हैं। गुलाब के पौधे को घर में लगाने पर शुभ फल प्राप्त होते हैं।