Uttarakhand Haldwani News Today : मदरसा हटाने के दौरान भड़की हिंसा, छह लोगों की मौत, कई घायल, शहर में कर्फ्यू, पूरे उत्तराखंड में हाई अलर्ट

img

हल्द्वानी।  हल्द्वानी के बनभूलपुरा में गुरुवार शाम को अतिक्रमण हटाने के दौरान बवाल हो गया। देखते ही देखते पूरे शहर में दंगा शुरू हो गया है, जिसमे छह लोगों की मौत हो गई और कई घायल हैं। हिंसा में दर्जनभर पत्रकारों समेत कई पुलिसकर्मी और नागरिक प्रशासन के लोग भी घायल हुए हैं। प्रशासन ने देर शाम उपद्रवियों के पैर में गोली मारने के आदेश दिए। प्रशासन ने शहर में कर्फ्यू लगा दिया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज सुबह अधिकारियों के साथ बैठक कर दंगाइयों से सख़्ती से निपटने का आदेश दिया है।

जानकारी के मुताबिक़ बनभूलपुरा में नगरपालिका के कर्मचारी और पुलिसकर्मी ग़ैरक़ानूनी तरीके से बने एक मदरसे को हटवा रही थी।  इस दौरान लोगों की भीड़ ने टीम पर हमला कर दिया और आगज़नी शुरू कर दी। इस दौरान भड़की हिंसा में कम से कम 60 लोग ज़ख़्मी हुए हैं।
पुलिस का कहना है कि हल्द्वानी के बनभूलपुरा में पहले से चिह्नित स्थल पर अतिक्रमण हटाने का काम हो रहा था, तभी अचानक पथराव शुरू हो गया। समुदाय विशेष के पथराव और आगज़नी के कारण क़ानून व्यवस्था बिगड़ गई।

प्रशासन का कहना है कि नाराज़ भीड़ ने बनभूलपुरा थाने पर भी हमला बोल दिया और पुलिस की कई गाड़ियों में आग लगा दी। पुलिस ने हिंसक भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया और आंसू गैस की गोले छोड़े। हिंसक भीड़ को तितर-बितर करने में पुलिस को काफी मसक्क्त का सामना करना पड़ा। फिलहाल इलाके में तनावपूर्ण शान्ति है।

हल्द्वानी में हुई हिंसा को लेकर डीएम वंदना मीडिया से मुखातिब हुई। उन्होंने कहा कि दंगे में तीन तरीके से हमला हुआ था। पहले अतिक्रमण हटाने गयी टीम पर पत्थरबाजी की गई, फिर पेट्रोल पंप फेके गए औरउसके बाद फिर थाना फूंका गया। डीएम ने कहा कि जंहा पर नगर निगम की टीम अतिक्रमण हटाने गई है, वंहा पर सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता की गई है। डीएम वंदना सिंह ने कहा हिंसा में दो लोगों की मौत हुई है और  हल्द्वानी में कर्फ्यू लगा दिया गया है।  

सीएम  पुष्कर सिंह धामी ने कहा है कि प्रदेश में किसी को भी क़ानून व्यवस्था से खिलवाड़ करने की छूट नहीं दी जा सकती। प्रशासनिक अधिकारी निरंतर क्षेत्र में क़ानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए कोशिश कर रहे हैं। हालात को देखते हुए केंद्रीय सुरक्षाबलों की चार बटालियन समेत आस-पास के ज़िलों से बड़ी तादाद में पुलिस बल को गुरुवार शाम को ही हल्द्वानी बुला लिया गया था। 

Related News