Vastu shastra : अगर आपके भी घर में नल टपकता है तो उसे तुरंत ठीक करा लें, नहीं तो होगा यह बड़ा नुकसान

जिन्दगी में हर कोई पैसा कमाना चाहता है और भविष्य के लिए कुछ हिस्सा बचा कर रखना भी चाहता है, लेकिन कई बार ऐसा होता है कि घर...

जिन्दगी में हर कोई पैसा कमाना चाहता है और भविष्य के लिए कुछ हिस्सा बचा कर रखना भी चाहता है, लेकिन कई बार ऐसा होता है कि घर में पैसा तो आता है लेकिन बचता नहीं, कोई न कोई फिजूल खर्ची लगी ही रहती है वास्तुशास्त्र (Vastu shastra) के नियमों पर नजर डाल लेनी चाहिए कि कहीं घर में कोई वास्तु दोष तो नहीं हैं जिससे फिजूल खर्ची नहीं रुक रही है। आज हम आपको बतायेंगे कि किन वास्तु दोष के कारण घर में फिजूल खर्ची बढती है और आर्थिक समस्या उत्पन्न होती है।

Vastu Dosh - Vastu shastra

  • वास्तु (Vastu shastra) के अनुसार किचन में अग्रि का वास होता है और जहां आग और पानी एक साथ हो जाएं तो परेशानी और फिजूल खर्च बढ़ने लगती है। ऐसे में अगर घर के किचन का नल टपक रहा ह तो उसे बिना देर किये झट से बनवा लेना चाहिए।
  •  वास्तु शास्त्र (Vastu shastra) के अनुसार घर की उत्तर पूर्व दिशा पानी के लिए शुभ मानी जाती है। ऐसे में इस दिशा में पानी का टैंक रखना पॉजिटिव एनर्जी लाता है। कहते हैं इस दिशा में पानी का टैंक रखने से आर्थिक समस्या हल होती है और सुख समृद्धि का वास होता है।
  • Vastu shastra कहता है कि पानी का टैंक कभी भी दक्षिण पश्चिम दिशा यानी कि नैऋत्य कोण में नहीं रखना चाहिए। यह अशुभ होता है ऐसा करने से घर में नकारात्मकता का वास होने लगता है और धन संबंधी परेशानी आती है। कर्ज होने का भी अंदेशा रहता है।
  • वास्तु (Vastu shastra) के अनुसार अगर घर में लगे नल या टंकी से पानी टपकता रहता है तो उस तुरंत ठीक करा लेना चाहिए, नहीं तो आपके के घर का पैसा भी उसी तरह से बह जायेगा जैसे पानी बह रहा है। ज्योतिष कहते हैं पानी टपकने से आर्थिक नुकसान की संभावना बढ़ जाती है।
  • वास्तु (Vastu shastra) के अनुसार अगर घर के नल से हमेशा पानी बह रहा है तो इसका मतलब है कि कहीं न कहीं बिना वजह का पैसा खर्च हो रहा हैं, उस पर तुरंत ध्यान देने कि जरूरत है।
  • वास्तु शास्त्र (Vastu shastra) कहता है कि अगर घर के किचन, बाथरूम या फिर अन्य जगह पर लगा नल टपकता है तो यह अशुभ माना जाता है और फिजूल खर्ची का संकेत है। किचन के सिंक में बूंद -बूँद पानी टपकना नकारात्मक उर्जा का प्रतीक माना जाता है। कहा जाता है जहां किचन के सिंक से पानी टपकता है वहां निगेटिव एनर्जी का वास होता है।

भूकंप से कांपी धरती, दहशत में घरों से बाहर निकल आये लोग, नहीं हुआ कोई नुकसान