देश में आई नई आफत; 52 लोगों की गई जान, 249 घर हो गए नष्ट

img

इंडोनेशिया के पश्चिमी सुमात्रा में ठंडा लावा भर गया है। इससे 52 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है. तीन हजार से ज्यादा लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया है. ये कोई मामूली बाढ़ नहीं थी. इसमें ठंडा लावा, कीचड़, पानी, बारिश शामिल थी।

इंडोनेशिया के मौसम विभाग के अनुसार, अगले हफ्ते तक इसी तरह बारिश होती रहेगी. इसलिए अचानक बाढ़, भूस्खलन, ठंडा लावा आने की आशंका है. पत्थरों के साथ-साथ पानी और ज्वालामुखी की राख भी अपने साथ ले जाएगी।

पश्चिम सुमात्रा के तीन जिले ठंडी लावा बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। इंडोनेशिया में ठंडे लावा को लहार कहा जाता है। आमतौर पर ये सक्रिय ज्वालामुखी माउंट मेरापी से उतरते हैं। पिछले साल दिसंबर में मेरापी विस्फोट में 20 लोगों की मौत हो गई थी।

मेरापी में निरंतर धमाके हो रहे हैं. तब से अब तक 52 लोगों की मौत हो चुकी है और 45 लोगों की पहचान की जा चुकी है. स्थानीय बचावकर्मी, पुलिस और सेना के जवान निरंतर लोगों की तलाश कर रहे हैं। ठंडे लावा की बाढ़ में 17 लोग अभी भी लापता हैं।

बता दें कि पश्चिम सुमात्रा आपदा एजेंसी के प्रवक्ता अब्दुल वहाब ने कहा कि ठंडे लावा की अचानक बाढ़ के कारण 249 घर नष्ट हो गए। 225 हेक्टेयर जमीन को नुकसान पहुंचा है।

Related News