Work From HomeTips: इन टिप्स से सुधारें वर्क फ्राॅम होम की वजह से खराब हो रहे बाॅडी पाॅश्चर को

कोविड-19 की वजह से दुनिया भर में वर्क फ्राॅम होम और बच्चों के ऑनलाइन क्लासेस पर अधिक जोर दिया जानें लगा। इस आदत में हम धीरे-धीरे...

कोविड-19 की वजह से दुनिया भर में वर्क फ्राॅम होम और बच्चों के ऑनलाइन क्लासेस पर अधिक जोर दिया जानें लगा। इस आदत में हम धीरे-धीरे ढलते भी जा रहे हैं लेकिन इन सबके बीच हमारे शरीर पर इसका काफी बुरा प्रभाव पड़ रहा है। दरअसल कोरोना काल से पहले हमारे शरीर को ऑफिस में काम करने की आदत थी। ऐसे में घर में ऑफिस जैसा माहौल मिल पाना मुश्किल है।

work from homeTips

हालांकि कई लोगों ने कोशिश की होगी कि वह घर में भी ऑफिस की ही तरह सीटिंग एरिया बना लें पर हर कोई ऐसा नहीं कर पाया। बहुत से लोग आज भी बिस्तर, सौफा पर या फिर मैट पर बैठकर घंटों काम करते हैं जिसका साइड इफेक्ट हमारी बॉडी पर पड़ रहा है और बाॅडी पाॅश्चर खराब हो रहा है। आज हम आपको बताएंगे कि आप कैसे अपने बॉडी पॉश्चर में सुधार ला सकते हैं ताकि आपको गंभीर समस्या का सामना ना करना पड़ें।

एडजस्टेबल कुर्सी

काम करते वक्त आपकी कोहनी और कलाई बाॅडी से 90 डिग्री पर होनी चाहिए। एडजस्टेबल आर्मरेस्ट होने से आपको अपनी बाहों को तनाव दिए बिना एक आरामदायक पाॅजिशन में बैठने को मिलेगा जिससे बॉडी पॉश्चर पर साइड इफेक्ट नहीं होगा।

लैपटाॅप का पोजिशन

आपके लैपटॉप की स्क्रिन आपकी आंखों के लेवल से ठीक थोड़ा नीचे होना चाहिए ताकि आपको स्क्रीन देखने के लिए अपनी गर्दन को ज्यादा मोड़ना या उठाना न पड़े। लैपटॉप को सही ऊंचाई पर रखने के लिए आप कुछ किताबों या फिर स्टडी टेबल का सहारा ले सकते हैं।

बदलते रहें पोजिशन

घंटों बैठकर लगातार काम न करते रहें बल्कि बीच-बीच में उठकर अपनी पोजिशन बदलते रहें। पूरे दिन एक ही पोजीशन में बैठने से बाॅडी में अकड़न और गर्दन में दर्द की समस्या हो सकती है।

एर्गोनोमिक कुर्सी

इस कुर्सी में आर्मरेस्ट, ऊंचाई को एडजेस्ट करने के लीवर और कमर के लिए लंबी बैक की सुविधा होती है।

काॅलिंग के लिए हैंड्स फ्री डिवाइस का करें इस्तेमाल

कई बार टाइप करते समय काॅलिंग पर रहने की वजह से कंधे और गर्दन में दर्द होने की समस्या बढ़ जाती है। इससे बचने के लिए आप फोन पर बात करने के लिए ईयरफोन या फोन के स्पीकर का प्रयोग करें।