इंटर में 87% आए, पर खुशी मनाने के लिए रही ही नहीं छात्रा

img

www.upkiran.org

यूपी किरण ब्यूरो

इलाहाबाद।। नवाबगंज के जूड़ापर गांव की रहने वाली छात्रा को इंटरमीडिएट परीक्षा में 87 प्रतिशत अंक मिले हैं। वह हर विषय में विशेष योग्यता (डिस्टिंग्शन) के साथ पास हुई है, लेकिन परिवार के साथ खुशी बांटने के लिए खुद वह मौजूद नहीं है।

यह वही छात्रा है, जिसकी 23 अप्रैल की रात परिवार के तीन अन्य सदस्यों के साथ हत्या कर दी गई थी। इनमें उसके मां-पिता और एक बहन शामिल थी। इस दौरान महिला के साथ रेप की भी बात सामने आई थी। शुक्रवार को जब रिजल्ट जारी हुआ तो जिंदा बचे भाई और बहन की आंखें नम थीं। बहन ने बताया कि वह आईएएस बनना चाहती थी।

उसने हाईस्कूल में भी 83 प्रतिशत अंक हासिल किए थे। गांव में रहने और घर की आर्थिक स्थिति ठीक न होने के बाद भी हौसले बुलंद थे। उसे मैथ्स में 96, हिन्दी में 80, इंग्लिश 76, फिजिक्स में 91 और केमिस्ट्री में 93 नंबर मिले हैं।

नवाबगंज के जूड़ापुर गांव निवासी एक दुकानदार की उसकी पत्नी, और दो बेटियों समेत धारदार हथियार और लाठी-डंडे से पीटकर हत्या कर दी गई थी।

बेटे की तहरीर पर पुलिस ने गांव के ही शिव बाबू यादव, मल्लू यादव, नरेन्द्र यादव, बांके यादव और नवीन यादव के खिलाफ आईपीसी की धारा 147,148,149,452,376डी, 302 और 3/4पॉक्सो ऐक्ट के तहत एफआईआर दर्ज कर जेल भेज दिया।

फोटोः प्रतीकात्मक

इसे भी पढ़ें

 

http://upkiran.org/3776

Related News