डाक्टर के दवा देते ही 10 मिनट में महिला की हो गयी मौत

img

www.upkiran.org

यूपी किरण ब्यूरो

उत्तर प्रदेश/संभल।। योगी सरकार का आदेश स्वास्थ्य विभाग पर काम नहीं कर रहा है। सरकारी अस्पताल में खुलेआम इंसानों की जिंदगी से खिलवाड़ किया जा रहा है।

मामला बहजोई थाने के पंवासा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का है यहाँ पर गाँव ओढ़ो की मड़ईयां निवासी कमला देवी पत्नी सूबेदार जिसकी उम्र 45 वर्ष सरकारी अस्पताल पंवासा आई थी।

महिला ने सरकारी अस्पताल में ड्यूटी पर तैनात डाक्टर से अपनी बीमारी बता कर सरकारी पर्चे पर दवाई लिखवाई और फार्मेसिस्ट के पास जाकर दवाई ली।

महिला दवाई लेकर अस्पताल से बाहर आकर सड़क किनारे लगे पानी के नल पर जाकर दवाई खा ली। महिला ने जैसे ही दवाई खाई तुरंत 10 मिनट के अंदर जमीन पर गिर पड़ी और मौके पर ही मौत हो गईं। महिला को तुरंत ही सरकारी अस्पताल लाया गया और डाक्टर ने महिला को मृत घोषित कर दिया।

महिला की मौत की खबर सुनते ही परिजन भी मौके पर पहुँच गए और काफी भीड़ इकट्ठा हो गई और दवाई लिखने वाला डाक्टर मौके से फरार हो गया।

पुलिस भी सूचना मिलते ही मौके पर बहजोई थाने के एसएसआई गंगा सिंह भी पहुँच गए। मृतक महिला के लड़के की ओर से दवाई लिखने वाले डॉक्टर और फार्मेसिस्ट के खिलाफ तहरीर पुलिस को दी गई है ।

परिजनों का आरोप है कि डाक्टर दृवारा लापरवाही से दवाई दी गई और सरकारी फार्मेसिस्ट की जगह प्राइवेट कर्मी दृवारा दवाई दी गई जिससे इस तरह की लापरवाही से महिला की मौत हो गई ।

पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेज दिया।परिवार में हाहाकार मचा है । मौके पर लोगों का कहना है कि इस अस्पताल मैं सरकारी डाक्टर और कर्मचारी कम आते है उन्होंने अपनी जगह प्राइवेट कर्मी लगा रखे है जिससे आए दिन ऐसी घटनाएँ देखने को मिलती है ।

फोटोः फाइल

इसे भी पढ़े

http://upkiran.org/2919

Related News