दीदी का मिला खिताब, लेकिन अब सड़कों पर उतरने को मजबूर हैं महिलाएं

img

www.upkiran.org

यूपी किरण ब्यूरो

उत्तर प्रदेश/अमेठी।। बीजेपी नेता एवं केंद्रीय मंत्री कल तक जिन अमेठी की महिला-पुरुष दोनों वर्गों में दीदी का खिताब पाई थी, अब उन्हीं में से कुछ महिलाएं उनके खिलाफ यहां सड़क पर उतर आई हैं।

मामला है राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट से जुड़ा, जिसमें हज़ारों महिलाएँ काम करती हैं। लेकिन राजनैतिक नूराकुश्ती के चलते केंद्रीय मंत्री ने इनकी नौकरियों पर तलवार गिराने की सोच ली थी।

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने दिया था भाजपा को झटका

अमेठी में केंद्रीय मंत्री को अब मिले इस झटके से दो दिन पूर्व राजीव गांधी ट्रस्ट की ज़मीन के मुद्दे पर इलाहाबाद उच्च न्यायलय ने भाजपा को बड़ा झटका दिया था।

कोर्ट ने एक क अंतरिम आर्डर पास करके जायस में वोकेशनल ट्रेनिंग सेंटर को अपनी गतिविधियां जारी रखने की अनुमति दे दिया है। हाईकोर्ट ने आदेश जारी किया था कि ट्रेनिंग सेंटर की सभी गतिविधियां फिलहाल चलती रहेंगी।

वहीं कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह ने स्पष्ट तौर पर कहा था कि केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी के इशारों पर उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार जायस सेंटर को बंद करवाना चाहती थी।

फोटोः फाइल

इसे भी पढ़े

http://upkiran.org/3006

Related News