दुःखद : लखनऊ में पैदा होते ही मार दी गईं दो बेटियां

img

www.upkiran.org

यूपी किरण ब्यूरो

लखनऊ।। राजधानी लखनऊ की ये घटनाएं दिल दहला देने और इंसानियत को तार-तार करने वाली हैं। दो बच्चियों को जन्म लेते ही मार दिया गया। पहला मामला है कैंट के कमांड हॉस्पिटल का।

गोरखपुर से रेफर मरीज से कहा डॉक्टर अभी खाली नहीं हैं 11 अगस्त को आइये,फिर हुआ इंसानियत क़त्ल!

इस अति सुरक्षित अस्पताल की इमरजेंसी के टॉयलेट में बच्ची फेंक दी गई। वह मरी मिली। दूसरा मामला गुडंबा के मिश्रीपुर का है। यहां बच्ची को गाड़ दिया गया था। जब वह लोगों को मिली तो कुत्ते उसकी लाश को नोंच रहे थे।

गरीबों को मुफ्त गैस कनेक्शन देने के बाद अब हर महीने बढ़ेंगे गैस के दाम , पढ़िए मोदी सरकार का ताज़ा फैसला

एसएसपी दीपक कुमार का कहना है कि दोनों ही घटनाएं दिल दहला देने वाली हैं। कैंट स्थित कमांड अस्पताल में रविवार शाम करीब साढ़े छह बजे इमरजेंसी के टॉयलेट की सीट में बच्ची की लाश पड़ी मिली। आसपास खून बिखरा था। टॉयलेट में बच्ची का शव मिलने की खबर से अस्पताल में अफरा-तफरी मच गई।

शर्मनाक : दो बच्चों की निर्मम हत्या कर शव खेत में फेंका

पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। लोगों ने बच्ची का शव पॉलिथीन अथवा किसी अन्य जरिए से छिपाकर टॉयलेट में फेंकने की आशंका जताई। हालांकि, पुलिस का मानना था कि गर्भवती टॉयलेट गई और वहीं उसे प्रसव हो गया। हो सकता है कि बच्ची मृत अवस्था में पैदा हुई हो इसलिए शव छोड़कर चली गई।

अस्पताल प्रशासन ने सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली पर उसमें कोई भी महिला टॉयलेट की तरफ जाती नहीं दिखी। पुलिस सीसीटीवी फुटेज कब्जे में लेकर छानबीन कर रही है। कैंट थाना प्रभारी धर्मेंद्र दुबे ने बताया कि शव की पहचान के लिए डीएनए सैंपल सुरक्षित रखा गया है।

दूसरी हृदयविदारक घटना गुडंबा के मिश्रीपुर की है। यहां के प्रधान केशव यादव ने बताया कि सोमवार सुबह गांव के ही एक बाग में बबूल के पेड़ों के बीच कुछ कुत्ते लड़ रहे थे। लोगों ने पास जाकर देखा तो कुत्ते एक गड्ढे में दबी बच्ची के शव का हाथ नोंच रहे थे।

राहगीरों ने कुत्तों को भगाकर पुलिस को सूचना दी। जानकारी मिलते ही आसपास के गांव से सैकड़ों लोगों की भीड़ जुट गई। पुलिस का कहना है कि शव बच्ची का था जिसे शायद रविवार रात अथवा सोमवार सुबह कोई गड्ढे में गाड़ गया। पुलिस के मुताबिक बच्ची किसकी थी, वह जिंदा पैदा हुई थी या मृत, उसे कब कौन गाड़ गया, इसकी पड़ताल की जा रही है।

फोटोः प्रतीकात्मक 

इसे भी पढ़ें

http://upkiran.org/6195

Related News