पैसो के लिए पत्नी को बेचता है पति, नहीं मिला इंसाफ

img

www.upkiran.org

यूपी किरण ब्यूरो

उत्तर प्रदेश/आगरा।। ताजनगरी में एक महिला ने पति पर देहव्यापार और अश्लील फोटो खींचकर ब्लैकमेल का आरोप लगाया है। महिला ने कहा, मेरे ऊपर 24 घंटे नजर रखने के लिए पति ने घर में 8 CCTV कैमरे लगाए हैं।

उसने मेरी जिंदगी नर्क से भी बदतर बना दिया। पीड़ि‍ता ने सीएम योगी, डीएम सहित सभी पुलिस अधि‍कारियों से शिकायत की है। अब वो 7 मई को आगरा आ रहे सीएम से मिलना चाहती है।
मामला आगरा के छत्ता थाना क्षेत्र का है। पीड़ि‍ता राधिका (काल्पनिक नाम) की शादी 8 मार्च 2002 को थाना हरीपर्वत के रहने वाले मयंक से हुई थी। महिला ने बताया, ”शादी में करीब 20 लाख रुपए खर्च हुए थे।

मयंक की ज्वेलरी शॉप है। मेरे दो बच्चे हैं। साल 2006 में मयंक ने बिजनेस में घाटा होने की बात कही और मेरे पिता से पैसों की डिमांड की। पिता ने उसे 4 लाख रुपए दिए। इसके बाद भी मुझे तानें मिलते रहे और झगड़ा होने पर पंचायत में सुलह होती रही।”

देह व्यापार में धकेला

2009 में मयंक अचानक योगा सीखने जाने लगे। 3 साल तक सीखने के बाद वह आर्ट ऑफ लिविंग संस्था में योगा टीचर बन गया। इस दौरान वो मुझपर पैसे कमाने के लिए देह व्यापार करने के लिए दबाव बनाने लगा, इस बात पर मेरी खूब लड़ाई हुई।

एक दिन उसने सास-ससुर की गैर मौजूदगी में अनजान व्यक्ति को खाने पर बुलाया और उसी दौरान मुझे कुछ नशीली दवा खि‍ला दी। दो दिन बाद मयंक ने मुझे उसी शख्स के साथ इंटीमेट होते हुए फोटो दिखाई और कहा,

‘अब जैसा मैं कहता हूं वैसा करो, वरना तेरी ये फोटोज अखबारों में छपवा दूंगा।’ मजबूरी में मुझे उसकी बात माननी पड़ी और 2010 से वह मुझे लगतार गैरमर्दों के पास भेजता रहा।

पिता को दिखाई अश्लील फोटो, बदनामी के डर से उन्होंने किया सुसाइड
महिला ने बताया, ”अक्टूबर 2016 में मयंक ने मेरे पिता से 30 लाख रुपए मांगे और न देने पर उन्हें मेरी अश्लील फोटो दिखा दी। बदनामी के डर से उन्होंने 26 अक्टूबर को सुसाइड कर लिया।

इसके बाद किसी के साथ जाने से मैंने इनकार कर दिया। उसने तलाक का नोटिस भिजवा दिया। अश्लील फोटोज को मयंक ने कोर्ट में एविडेंस बनाया। मैंने भी मेंटेनेंस का दावा ठोंका है।”

सीएम, महिला आयोग तक लगाई गुहार, नहीं मिला जवाब

”मैंने तत्कालीन सीएम अखिलेश यादव, महिला आयोग, डीएम, आईजी, डीआईजी सहित सभी पुलिस अधि‍कारियों से मदद की गुहार लगाई, लेकिन कोई मदद नहीं मिली। 12 अप्रैल को मैंने सीएम योगी आदित्यनाथ को भी ट्वीट किया, लेकिन अभी तक जवाब नहीं मिला।

जब मैं न्याय के लिए दर-दर भटकने लगी तो ससुर ने मेरे और परिवार के कुल 9 लोगों के खिलाफ डकैती का मुकदमा लिखवा दिया। इतना ही नहीं, मुझसे घर खाली कराने और 24 घंटे नजर रखने के लिए पति ने 8 cctv कैमरा घर में लगा दिया है।

पति ने कहा, वो पैसों के लिए ये सब कर रही है

मयंक का कहना है, उनका 8 महीने से तलाक का मुकदमा चल रहा है। वो पैसों की मांग कर रही है, इसलिए इस तरह की बात कह रही है। कोई भी व्यक्ति मोहल्ले और थाने जाकर पता कर सकता है।

पुलिस ने बताया

छत्ता थाने के सीओ बीएस त्यागी ने बताया, दोनों पक्षों को समझौते के लिए एसएसपी के आदेश पर 7 मई को परिवार परामर्श केंद्र बुलाया गया है। दोनों एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं। पुलिस की प्राथमिकता है कि काउंसलिंग के जरिए सुलह कराकर परिवार टूटने से बचाने की कोशिश की जाए।

फोटोः फाइल

Related News