बेटे को कंधे पर लेकर मर्चरी तक गया बाप, नहीं मिला स्ट्रेचर

img

www.upkiran.org

यूपी किरण ब्यूरो

लखनऊ।। यूपी में सत्ता बदले हुए 5 माह हो गए लेकिन प्रदेश की स्थिति किसी भी सूरत में बदलती नजर नहीं आ रही है। कानून व्यवस्थाओं, शिक्षा व स्वास्थ सुविधाओं में सुधार को लेकर विपक्ष में रहते हुए भाजपा हमेशा तत्कालीन सरकार पर आक्रमक रूख अपनाती रही है। लेकिन सत्ती में आने के बाद स्थिति और भी भयावह हो रही है।

UPSIDC का नया पोर्टल लांच ये है खूबियां

एक ताजा मामला यूपी के गाज़ीपुर जिले से है। यहां जिला अस्पताल के चिकित्सकों की संवेदनहीनता सामने आई है। यहां गोद में मृत बच्चे को लेकर परिजन जिला अस्पताल पहुंचे तो इमरजेंसी में बैठे सरकारी डॉक्टर ने पुलिस केस बताकर पहले तो देखने से मना कर दिया, फिर परिजनों को अस्पताल से भगा दिया।

मुलायम सिंह यादव के आवास के सामने 10 फिट भाजपाई गड्ढा, मचा हड़कंप

परिजन अपने बच्चे को गोद में लेकर कोतवाली और जिला अस्पताल के चक्कर काटने रहे फिर स्थानीय मीडिया के हस्तक्षेप के बाद उसी सरकारी डॉक्टर ने बच्चे का चेकअप कर मृत घोषित किया।

रिहाई मंच के प्रतिनिधियों ने की मुहम्मद आवेस से हॉस्पिटल में मुलाकात

अपने मृत बच्चे का शव कंधे से चिपकाए परिजन मर्चरी भी गए लेकिन अस्पताल में बैठे संवेदनहीन डॉक्टरों को ये भी नहीं समझ आया कि मृत बच्चे के लिए स्ट्रेचर भी मुहैया करा दिया जाए।

एक बार फिर इस एक्ट्रेस ने ढाया कहर, अरबाज खान से तलाक के बाद फिर से है चर्चा में

जिले के पुलिस अधीक्षक ने डॉक्टरों के खिलाफ परिजनों के शिकायत के आधार पर मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी और कार्रवाई करने की बात कही है।

फोटोः फाइल

इसे भी पढ़ें

http://upkiran.org/5713

 

Related News