मायावती के गांव में जमीन आवंटन की भी जांच करवाएगी भाजपा सरकार

img

www.upkiran.org

यूपी किरण ब्यूरो

ग्रेटर नोएडा।। यूपी की पूर्व सीएम मायावती के गांव बादलपुर में अब तक हुए सभी तरह के जमीन आवंटन की जांच होगी। ग्रेटर नोएडा और यमुना अथॉरिटी के चेयरमैन ने जमीन अधिग्रहण से लेकर लीज बैक और प्लॉट आवंटन की जांच के निर्देश डीएम को दिए हैं।

डीएम को 30 जून तक जांच रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है। जांच रिपोर्ट शासन को भेजी जाएगी। सूत्रों के अनुसार, जांच के दायरे में बीएसपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आनंद कुमार समेत कई बड़े नेता आ सकते हैं। पूर्व सीएम मायावती के शासनकाल में बादलपुर में 2007-08 में अथॉरिटी ने जमीन का अधिग्रहण किया था।

आरोप है कि जमीन अधिग्रहण के बाद प्लॉट अलॉटमेंट और लीज-बैक में बंदरबांट की गई। मायावती के भाई आनंद कुमार की कंपनी को 50, 400 वर्ग मीटर जमीन कॉल सेंटर के लिए 2009-10 में अलॉट की गई थी, लेकिन अब भी वहां खेती हो रही है। जिला पंचायत की पूर्व चेयरमैन के ससुर और उनके भाइयों की जमीन अथॉरिटी ने अधिग्रहित की।

तीन साल बाद इन्होंने मुआवजे का पैसा अथॉरिटी को वापस कर दिया और जीटी रोड की प्रमुख लोकेशन पर जमीन की लीज-बैक करवा ली। बाद में जमीन गाजियाबाद से बीएसपी विधायक सुरेश बंसल के बेटे की कंपनी को बेच दी गई। पूर्व मंत्री करतार नागर पर इसी तरह लीज-बैक करवाने के आरोप हैं।

फोटोः फाइल

इसे भी पढ़ें

http://upkiran.org/4343

http://upkiran.org/4349

Related News