11 साल की उम्र से हो रहा था गैंगरेप, फेसबुक से बची जिंदगी

img

www.upkiran.org

यूपी किरण ब्यूरो

नई दिल्ली।। महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति जयहिंद को फेसबुक के जरिए एक मैसेज मिलता है। मैसेज दिल्ली के जीबी रोड में देह व्यापार के चंगुल में फंसी एक नाबालिग के बारे में था। तथ्यों की पुष्टि के बाद दिल्ली पुलिस की अगुवाई में महिला आयोग की टीम ने छापा मारकर नाबालिग को कोठे से मुक्त कराया।

4 साल से यहां रह रही थी

नाबालिग पीड़िता मूल रूप से बिहार की रहने वाली है और वह चार साल से यहां फंसी हुई थी। उससे जबरन देह व्यापार कराया जा रहा था और उसने बताया कि कम उम्र में ही उसके मां-बाप की मौत हो गई थी। इसके बाद वह अपनी मौसी के घर पर रहने लगी।

9 साल की उम्र में बेचा

एक दिन उसकी मौसी के घर एक महिला आई थी जो उसे बिहार से दिल्ली ले आई। महिला ने उसे दिल्ली में एक कोठे की मालकिन के पास बेच दिया। उस वक्त पीड़िता की उम्र 9 साल थी और कोठे की मालकिन ने दो साल तक उसे अपनी बहू के घर में रखा था।

11 साल की उम्र में पहला हुआ गैंगरेप

11 साल की उम्र में उसे जीबी रोड लाया गया। पहली बार उसके साथ 5 लोगों ने गैंगरेप किया था और मना करने पर उसे मारा-पीटा जाता था। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि उसने कई बार भागने की कोशिश की लेकिन हर बार वह पकड़ी गई और पकड़े जाने के बाद उसे तरह-तरह से यातनाएं दी जाती थी।

FB ने दिया जीवन दान

पीड़िता ने बताया कि कुछ दिन पहले उसके पास एक लड़का आया था। उसने लड़के से बाहर निकलने के लिए मदद मांगी थी। गौरतलब है कि उसी लड़के ने फेसबुक के जरिए नाबालिग के बारे में स्वाति जयहिंद को मैसेज किया था। जिसके बाद स्वाति जयहिंद ने पीड़िता को एक नया जीवनदान दिया।

फोटोः फाइल

Related News