बलिया गोलीकांड : विपक्ष का योगी सरकार पर हमला, अखिलेश बोले-इस बार गाड़ी पलटेगी या नहीं?

बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो व पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने शुक्रवार को कहा कि यूपी में बलिया की हुई घटना अति-चिन्ताजनक तथा अभी भी महिलाओं व बच्चियों पर आये दिन हो रहे उत्पीड़न आदि से यह स्पष्ट हो जाता है कि यहां कानून-व्यवस्था दम तोड़ चुकी है।

लखनऊ। बलिया में अधिकारियों की मौजूदगी में खुली बैठक के दौरान हत्या मामले को लेकर विपक्ष ने योगी सरकार पर हमला बोला है। बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो व पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने शुक्रवार को कहा कि यूपी में बलिया की हुई घटना अति-चिन्ताजनक तथा अभी भी महिलाओं व बच्चियों पर आये दिन हो रहे उत्पीड़न आदि से यह स्पष्ट हो जाता है कि यहां कानून-व्यवस्था दम तोड़ चुकी है। उन्होंने कहा कि सरकार इस ओर ध्यान दे तो यह बेहतर होगा। बसपा की यह सलाह है।

Akhilesh and Mayawati

अखिलेश बोले-इस बार गाड़ी पलटेगी या नहीं?

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि बलिया में सत्ताधारी भाजपा के एक नेता के, एसडीएम और सीओ के सामने खुलेआम, एक युवक की हत्या कर फरार हो जाने से उप्र में कानून व्यवस्था का सच सामने आ चुका है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि अब देखें क्या एनकाउंटर वाली सरकार अपने लोगों की गाड़ी भी पलटाती है या नहीं।

राजभर ने घटना का वीडियो शेयर किया

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष व पूर्व कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने घटना का वीडियो टैग करते हुए ट्वीट किया कि मुख्यमंत्री जी, देखिए- यह विपक्षी पार्टियों के नेता गोली नहीं चला रहे हैं, ये भाजपा के नेता हैं जो सरेआम गोली मारकर हत्या कर रहे हैं। बलिया में भाजपा नेता धीरेन्द्र सिंह ने एसडीएम और सीओ के सामने युवक की गोली मारकर हत्या कर दी है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून और प्रशासन का डर खत्म हो चुका है।

यह है मामला

उल्लेखनीय है कि बलिया के बैरिया थाना क्षेत्र में दुर्जनपुर में गुरुवार को कोटे के दुकान के आवंटन बैठक के दौरान हुए विवाद में भाजपा कार्यकर्ता कहे जा रहे धीरेन्द्र सिंह ने एक व्यक्ति को गोली मार दी, जिससे उसकी मौत हो गई। इस दौरान वहां उप जिलाधिकारी और पुलिस क्षेत्राधिकारी भी मौजूद थे। पुलिस ने  हत्या का केस दर्ज किया है।

एसडीएम-सीओ और भी आठ पुलिसकर्मी निलम्बित

वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले का संज्ञान लेते हुए घटनास्थल पर मौजूद एसडीएम सुरेश कुमार पाल, सीओ चंद्रकेश सिंह सहित घटना के दौरान मौजूद सभी आठ पुलिसकर्मियों को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया है। मुख्यमंत्री ने आरोपितों के विरुद्ध भी कठोर कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *