कचरे से बनेगी बायोगैस, ईंधन और खाद

इस योजना के अंतर्गत मुंबई के चार कचरा केंद्रों में अत्याधुनिक मशीनरी के जरिए आदर्श कचरा केंद्र बनाए जाएंगे।

मुंबई॥ स्वच्छ और सुंदर मुंबई बनाने के लिए मुंबई महानगरपालिका की उपलब्धियों में एक नया अध्याय जुड़ने जा रहा है। मुंबई महानगर में इकट्ठा होनेवाले कचरे से बायोगैस, खाद और इंधन बनाने की तैयारी की जा रही है। इस योजना के अंतर्गत मुंबई के चार कचरा केंद्रों में अत्याधुनिक मशीनरी के जरिए आदर्श कचरा केंद्र बनाए जाएंगे।

garbage

बीएमसी ने कचरा प्रबंधन की आधुनिक प्रणाली सहित कई योजनाएं लागू की हैं। बायोगैस, खाद और इंधन तैयार करने की योजना से कचरा की ढुलाई कर डंपिंग ग्राउंड में भेजने का मुद्दा भी सुलझ सकेगा। घनकचरा प्रबंधन विभाग के कार्यकारी इंजीनियर व सहायक आयुक्त अनंत भागवतकर के अनुसार वर्सोवा, गोराई, कुर्ला और महालक्ष्मी में कचरा प्रबंधन केंद्र है।

यहां जमा होनेवाले विभिन्न प्रकार के कचरे से बड़े पैमाने पर दुर्गंध आती है और इससे कई बीमारियां फैलने का धोखा भी बना रहता है। इन ठिकानों पर पुनः प्रक्रिया करनेवाले आदर्श कचरा ट्रांस प्लांट स्थापित किए जाएंगे।

भागवतकर के मुताबिक इन प्लांटों में आनेवाले सूखा कचरा और गीला कचरा को अलग किया जाएगा। इसके बाद सूखे कचरे में प्लास्टिक और अन्य सामग्री अलग कर पैरोलेसिस तकनीकी से ईंधन तैयार किया जाएगा। इसके अलावा टाइल्स सहित अन्य वस्तुएं बनाने के लिए उपयोग में लाया जाएगा। गीले कचरे से खाद, बायोगैस बनाया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *