Kerala समेत इन 10 राज्यों में फिर बढ़े कोरोना केस, अब सरकार करने जा रही ये काम

पिछले कुछ दिनों से देश में भले ही कोरोना के मामले काम हो रहे हैं लेकिन केरल (Kerala) समेत कई राज्यों में अब भी हालात गंभीर बने हुए हैं। केरल में...

नई दिल्ली। पिछले कुछ दिनों से देश में भले ही कोरोना के मामले काम हो रहे हैं लेकिन केरल (Kerala) समेत कई राज्यों में अब भी हालात गंभीर बने हुए हैं। केरल में पिछले कई दिनों से रोजाना कोरोना के मामले 20 हजार से अधिक आ रहे हैं। देश में लगातार चार दिनों से 40 हजार अधिक नए केस आ रहे हैं। केरल समेत देश भर में कई दिनों से लगातार बढ़ रहे कोरोना केसों को देखते हुए केंद्र सरकार एक बार फिर सतर्क आ गयी है।

COVID-19 - Kerala

देश के कई राज्यों में तेजी से बढ़ रहे कोरोना केसों को देखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण आज यानी शनिवार को केरल (Kerala) सहित 10 राज्यों की स्थिति की समीक्षा करेंगे। राजेश भूषण केरल, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, असम, मिजोरम, मेघालय और मणिपुर में कोरोना की स्थिति की समीक्षा करेंगे। चेन्नई में गणितीय विज्ञान संस्थान से मिली जानकारी के मुताबिक केरल और पूर्वोत्तर राज्य उन क्षेत्रों में से हैं जहां आर-वैल्यू (वो दर जिस पर देश में कोविड -19 संक्रमण फैल रहा है) बढ़ रहा है। केरल का आर-वैल्यू 1.11 के आसपास बना हुआ है।

गौरतलब है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने पहले ही केरल (Kerala) में छह सदस्यीय मल्टी डिसीप्लीनरी टीम भेजी है जो वहां कोविड -19 महामारी की स्थिति की निगरानी करेगी और राज्य में संक्रमण के प्रसार को नियंत्रित करने के उपाय सुझाएगी। राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) के निदेशक डॉ सुजीत सिंह के नेतृत्व में विशेषज्ञों की टीम शुक्रवार रात तिरुवनंतपुरम पहुंच चुकी है।

टीम के सदस्य ने कहा कि केरल (Kerala) में पॉजिटिविटी रेट में हो रही वृद्धि बड़ी चिंता का vishay है। देश के कई हिस्सों में मामले घट रहे हैं और केरल में बढ़ना जारी है। उन्होंने कहा कि हम राज्य के साथ इस पर चर्चा करें। यह एक व्यापक स्थिति है, देखते हैं कि चीजें कैसे सुधरती हैं। बता दें कि केरल ने शुक्रवार को 20,000 से अधिक नए संक्रमणों की सूचना दी, जो लगातार चौथे दिन एक दिन में भारत के कुल कोविड -19 टैली का 50 प्रतिशत है। राज्य की टेस्ट पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 13.61 फीसदी हो गई है।

Rakesh Tikait करते रहे इंतजार- बिना मिले ही बंगाल लौट गईं ममता बनर्जी, किसान नेता बोले…

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *