देश पर छाया बड़ा संकट, चीन के इस फैसले से भारत सतर्क, खतरे में लाखों जिंदगियां

चालाक चीन लद्दाख एवं अरुणाचल प्रदेश पर अपनी गंदी नजर गढ़ाए बैठा है।

बीजिंग॥ चालाक चीन लद्दाख एवं अरुणाचल प्रदेश पर अपनी गंदी नजर गढ़ाए बैठा है। ड्रैगन अब अपने देश के शिंजियांग प्रांत को यूएसए के कैलिफोर्निया की तर्ज पर विकसित करने में लग गया है। ऐसे में जानकारों ने बताया कि ड्रैगन की इस साजिश से हिंदुस्तान, बांग्‍लादेश व पाकिस्तान में करोड़ों इंसानों के जीवन पर गहरा खतरा आ जाएगा।

CHINA India

बात ये है कि दुश्मन देश ड्रैगन हिंदुस्तानी उपमहाद्वीप में बहने वाली 2 बड़ी नदियों ब्रह्मपुत्र तथा सिंधु की धारा को बदलने में लग गया है, जोकि करोड़ों जिंदगियों के जीवन का आधार हैं। चालबाज चीन की इस चाल पर कई जानकारों ने बताया कि ड्रैगन के इस कदम का सिर्फ एक ही उद्देश्य है पानी को हथियार के रूप में उपयोगा करना है।

आगे उन्‍होंने परामर्श दिया कि ड्रैगन की इस चाल को नाकाम करने के लिए हिंदुस्तान को ‘अंतरराष्‍ट्रीय बहुपक्षीय फ्रेमवर्क’ बनाना चाहिए। वास्तव में सिंधु और ब्रह्मपुत्र दोनों ही बड़ी नदियां तिब्‍बत से शुरू होती हैं। ये सिंधु नदी पश्चिमोत्‍तर हिंदुस्तान से होकर पाकिस्‍तान के रास्‍ते अरब सागर में गिरती है। फिर ब्रह्मपुत्र नदी पूर्वोत्‍तर हिंदुस्तान के रास्‍ते बांग्‍लादेश में जाती है। ये दोनों ही नदियां विश्व की सबसे बड़ी नदियों में आती हैं।

ऐसे में चीन बीते कई वर्षों से ब्रह्मपुत्र नदी की दिशा को बदलने के प्रयासों में लगा हुआ है। चीन ब्रह्मपुत्र नदी को यारलुंग जांगबो कहते है जो भूटान, अरुणाचल प्रदेश से होकर गुजरती है। ब्रह्मपुत्र तथा सिन्धु दोनों ही नदियां चीन के शिंजियांग क्षेत्र से निकलती हैं। सिंधु नदी लद्दाख के रास्‍ते पाकिस्‍तान में जाती है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *