COVID-19: कोरोना केसों ने बढ़ाई चिंता, रोजाना मिल रहे 40 हजार नए मामले

लगभग डेढ़ साल से दुनिया भर में तबाही मचा रहे कोरोना वायरस की रफ़्तार भले ही धीमी पड़ गयी है लेकिन अभी रुकी नहीं है। मौजूदा समय में कोरोना...

नई दिल्ली। लगभग डेढ़ साल से दुनिया भर में तबाही मचा रहे कोरोना वायरस (COVID-19) की रफ़्तार भले ही धीमी पड़ गयी है लेकिन अभी रुकी नहीं है। मौजूदा समय में कोरोना के केसों का आंकड़ा भले ही तेजी से नहीं बढ़ रहा है लेकिन नए मामलों की रफ्तार में कोई कमी नहीं आ रही है। सोमवार को सुबह एक बार फिर से पिछले एक दिन में कोरोना का 39,361 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इससे एक दिन पहले यानी रविवार को भी 39,742 नए केस सामने आये थे। इन केसों को देख कर साफ कहा जा सकता है के कोरोना के नए केसों का आंकड़ा लगातार खतरे के निशान के करीब बना हुआ है यानी रोजाना लगभग 40,000 के आसपास नए केस मिल रहे हैं।

COVID-19

एक्सपर्ट्स के मुताबिक भले ही कोरोना (COVID-19) के केसों में तेजी नहीं दिख रही है, लेकिन रफ्तार न घटना भी चिंता की वजह है। कोरोना के नए मामलों में कमी न आना कोरोना की तीसरी लहर की जमीन तैयार होने जैसा है।बता दें कि सोमवार को एक तरफ नए केस 39 हजार के पार हैं तो वहीं रिकवर होने वाले मरीजों की संख्या 35,968 ही रही है। यही वजह है के एक ही दिन में देश में एक्टिव मरीजों की संख्या में 3 हजार से अधिक का इजाफा हुआ है।

Dementia जैसी खतरनाक बीमारी का शिकार बुजुर्ग ही नहीं बल्कि युवा भी हो रहे, Researchके अनुसार…

भारत में रविवार को एक्टिव केसों की संख्या 4,08,212 थी, जो अब बढ़कर 4 लाख 11 हजार के पार है। इसके साथ ही देश में कुल कोरोना (COVID-19) संक्रमितों के मुकाबले सक्रिय मरीजों का आंकड़ा 1.31 फीसदी है। दरअसल देश के दक्षिण और पूर्वोत्तर राज्यों में कोविड-19 की रफ्तार नहीं थम रही है। इसके साथ ही महाराष्ट्र में भी बड़ी संख्या में कोरोना केस मिल रहे हैं। हालांकि उत्तर भारत के यूपी, मध्य प्रदेश, बिहार, राजस्थान, हरियाणा और पंजाब जैसे राज्यों में कोरोना केसों का आंकड़ा काफी हद तक कम होकर 100 के करीब पहुंच गया है लेकिन दक्षिण भारत और महाराष्ट्र में तेजी से बढ़ रहे आँकड़ों की वजह से स्थिति चिंताजनक बनी हुई है।

Salary पर टैक्स बचाना चाहते हैं तो अपनाये ये आसान तरीके, सेविंग में भी मिलेगी मदद

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *