बहू की कोशिशें हुईं नाकाम, काका ससुर की मौत

गुवाहाटी॥ नगांव जिला के रोहा थानांतर्गत भाटी गांव निवसी कोरोना संक्रमित अपने 75 वर्षीय ससुर थुलेश्वर दास को बहू निहारिका दास पूरी कोशिशों के बावजूद बचा नहीं पायी।

One person dead

उपचार के दौरान थुलेश्वर दास की बीती रात मौत हो गई। उल्लेखनीय है कि निहारिका दास वही महिला है जिसने अपने कोरोना संक्रमित ससुर को पीठ पर लादकर नगांव अस्पताल लाकर भर्ती कराया था। इस दौरान निहारिका भी कोरोना पीड़ित हो गयी थी।

थुलेश्वर दास की हालत गंभीर देखते हुए डॉक्टरों ने बेहतर चिकित्सा के लिए गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज अस्पताल (जीएमसीएच) में रेफर किया था। दोनों का उपचार जीएमसीएच की नई बिल्डिंग में बनाए गए सुपर स्पेशलिटी चिकित्सालय कोविड केअर के पहले तल्ले पर उपचार चल रहा था। उपचार के दौरान निहारिका के ससुर की मौत हो गई।

ससुर के निधन के बाद निहारिका ने सोशल मीडिया पर असम सरकार और डॉक्टरों की काफी प्रशंसा करते हुए एक वीडियो अपलोड किया था। उसने कहा था कि उसके ससुर का स्वास्थ्य धीरे-धीरे ठीक हो रहा है। बावजूद बीती रात अचानक ससुर का स्वास्थ्य बिगड़ने लगा। और, अंततः ससुर की बीती रात मौत हो गयी।

निहारिका का उपचार जीएमसीएच में चल रहा है। मौत के बाद निहारिका के ससुर का अंतिम संस्कार गुवाहाटी के भूतनाथ श्मशान घाट पर मंगलवार को किया गया।

बता दें कि नगांव जिला के रोहा थानांतर्गत भाटी गांव की निहारिका की लोगों ने उस समय काफी प्रशंसा की थी जब सोशल मीडिया पर एक फोटो वायरल हुआ था, जिसमें वह अपने ससुर को पीठ पर लादकर अस्पताल ले जा रही थी। निहारिका का पति पश्चिम बंगाल के सिलिगुड़ी में नौकरी करता था। हालांकि, वह गुवाहाटी पहुंच गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *