फिल्मी पर्दे पर हर किरदार अनुपम खेर को तलाशता गया

बॉलीवुड एक्टर अनुपम खेर, एक ऐसे अभिनेता हैं जिन्होंने अपनी अदायगी का हर रंग परदे पर कुछ इस तरह से बिखेरा कि सभी को अपना मुरीद बना लिया । हिंदी सिनेमा से हॉलीवुड तक का सफर तय करने वाले अनुपम खेर आज 66 साल के हो गए हैं

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

आज हम आपसे एक बार फिर उस अभिनेता के बारे में बात करेंगे जिसकी अदायगी को फिल्मी पर्दा तलाशता गया।हिमाचल प्रदेश के शिमला से निकालकर इन्होंने बॉलीवुड में अपनी अलग पहचान बनाई। 80 के दशक में निभाए गए अपने बुढ़ापे के किरदार ने एक सशक्त अभिनेता के तौर पर हिंदी सिनेमा में उन्हें लाकर खड़ा कर दिया। जी हां हम बात कर रहे हैं कि बॉलीवुड के प्रसिद्ध अभिनेता अनुपम खेर की । आज अनुपम खेर का जन्मदिन है । आइए इनकी फिल्मी पारी के बारे में चर्चा की जाए।Anupam Kher

बॉलीवुड एक्टर अनुपम खेर, एक ऐसे अभिनेता हैं जिन्होंने अपनी अदायगी का हर रंग परदे पर कुछ इस तरह से बिखेरा कि सभी को अपना मुरीद बना लिया। हिंदी सिनेमा से हॉलीवुड तक का सफर तय करने वाले अनुपम खेर आज 66 साल के हो गए हैं। सिनेमा में लंबे समय का अनुभव होने के कारण ही लोग उन्‍हें ‘स्‍कूल ऑफ एक्टिंग’ भी कहते हैं। अनुपम खेर को भारत सरकार ने ‘पद्म भूषण’ सम्मान से नवाजा है। इसके साथ उन्हें फिल्मों में निभाए गए अपने अभिनय के लिए कई बार फिल्म फेयर से लेकर राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया । उनकी पत्नी किरण खेर चंडीगढ़ से भाजपा की सांसद हैं।Anupam kher -Actor

अनुपम खेर का जन्म 7 मार्च 1955 में शिमला में हुआ था।अनुपम की पढ़ाई शिमला के डीएवी स्‍कूल से हुई। इसके बाद एक्टिंग का सपना लिए दिल्ली आ गए और उन्होंने नेशनल स्‍कूल ऑफ ड्रामा में दाखिला लिया और एक्टिंग के गुर सीखे। शुरुआत में अनुपम खेर स्टेज पर एक्टिंग करते रहे। लेकिन कुछ बड़ा करने के इरादे से उनको जिंदगी मायानगरी मुंबई खींच लाई। मुंबई में अनुपम खेर के लिए काम मिलना आसान नहीं था लेकिन धीरे-धीरे उन्होंने हार नहीं मानी और संघर्ष करते रहे। कई रातें अनुपम ने मुंबई के फुटपाथ पर भी गुजारी।

वर्ष 1982 में अभिनेता अनुपम खेर का फिल्मी सफर हुआ शुरू—-

साल 1982 में अनुपम खेर ने ‘आगमन’ फिल्म में अभिनय किया था लेकिन उन्हें इससे कोई पहचान नहीं मिली । उसके बाद नामचीन निर्माता-निर्देशक महेश भट्ट ने उनको लेकर फिल्म ‘सारांश’ बनाई । इस फिल्म की सफलता के बाद अनुपम खेर का ग्राफ अचानक फिल्म इंडस्ट्रीज में बहुत तेजी के साथ बढ़ गया, क्योंकि इसमें वे वास्तविक जीवन में 29 साल के थे और उन्होंने 65 साल के बूढ़े का रोल निभाया था ।

फिल्म सारांश से अनुपम को न सिर्फ पहचान मिली बल्कि उनके काम की काफी तारीफ भी हुई । कम उम्र के होते हुए भी उन्होंने इस फिल्म में उम्रदराज कैरेक्टर का अभिनय किया। फिल्म सारांश में 65 साल का व्यक्ति किस तरह से सोचता है, कैसे उठता-बैठता है और उसके बोलने का तरीका क्या है, अनुपम ने इसे बखूबी निभाया। इस फिल्म के बाद अनुपम अलग-अलग तरह के रोल में दिखते रहे।

अनुपम खेर इंडस्ट्री के ऐसे अभिनेता हैं जो अपने किरदार को खुद में अंदर तक उतार लेते हैं। उसके बाद सुभाष गई ने फिल्म कर्मा में अनुपम खेर को ‘डॉक्टर ‘डेन’ का रोल दिया था । इस फिल्म में अनुपम खेर ने निभाए गए रोल की वजह से अचानक वे फिल्म इंडस्ट्रीज के टॉप खलनायक को किस श्रेणी में शुमार हो गए । इस फिल्म की सफलता के बाद फिर अनुपम खेर पीछे मुड़कर नहीं देखा । अनुपम खेर ने अपने करियर में कई सारी शानदार फिल्मों में काम किया।

इन फिल्मों ने अनुपम को बॉलीवुड में एक सशक्त अभिनेता के रूप में लाकर खड़ा किया–

फिल्म कर्मा के सुपरहिट होते ही बॉलीवुड के निर्माता निर्देशकों की अनुपम खेर के घर पर फिल्मों को साइन करने की लाइन लग गई थी । सही मायने में अनुपम खेर के लिए वर्ष 1985 से लेकर 95 तक यानी एक दशक बॉलीवुड में सबसे अच्छा कहां जा सकता है ।इस दौरान उन्होंने कई फिल्मों में अभिनय किया और सफलता भी मिली ।

आइए बताते हैं वह कौन सी फिल्में रहीं जिनमें अनुपम ने अपने अभिनय के बल पर फिल्म को हिट कराने में भी अहम भूमिका निभाई । इसमें स्पेशल 26, ए वेडनस डे, गुदगुदी, चाहत, सलाखें, डैडी, राम लखन, दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे, तेजाब, चांदनी, परिंदा, हम आपके हैं कौन, डर, शोला और शबनम, दिल, सौदागर, 1942 ए लव स्टोरी, रूप की रानी चोरों का राजा और दिल है कि मानता नहीं समेत कई सारी फिल्मों में नजर आए हैं ।

अनुपम ने फिल्मों में हास्य अभिनेता का भी रोल निभाया । वहीं संजीदा रोल में भी उनहोंने अपनी अलग पहचान बनाई। फिल्म ‘डैडी’ में उनके संजीदा रोल को काफी पसंद किया गया। एक्टर अनुपम खेर ने करीब 4 दशक फिल्म इंडस्ट्री में काम किया है और 500 से भी ज्यादा फिल्मों में नजर आ चुके हैं । आपको बता दें कि हम आपके हैं कौन की शूटिंग के दौरान अनुपम के चेहरे पर लकवा मार गया था । लेकिन फिर भी उन्होंने हार नहीं मानी और अपने दृढ़ इरादों से इस बीमारी को हरा दिया। आज भी अनुपम खेर फिल्मों में सक्रिय हैं । यही नहीं वह सोशल मीडिया पर भी खूब एक्टिव रहते हैं ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *