हिन्दी विश्व में सबसे अधिक बोली जाने वाली और समझी जाने वाली भाषा : साहित्यकार अनिरुद्ध सिंह सेंगर

विश्व में सबसे अधिक बोली जाने वाली और समझी जाने वाली भाषाओं में हिन्दी प्रथम स्थान पर है। विश्व के लगभग 120 देशों में हिन्दी अपने बल पर आगे बढ़ रही है।

गुना, 14 सितम्बर, य़ूपी किरण।  विश्व में सबसे अधिक बोली जाने वाली और समझी जाने वाली भाषाओं में हिन्दी प्रथम स्थान पर है। विश्व के लगभग 120 देशों में हिन्दी अपने बल पर आगे बढ़ रही है। हिन्दी निरंतर विश्व भाषा बनने की ओर अग्रसर है। उक्त वक्तव्य साहित्यकार अनिरुद्ध सिंह सेंगर ने सोमवार को हिन्दी  दिवस के अवसर पर आयोजित कवि-गोष्ठी का संचालन करते हुए दिया।
                                   
उन्होंने कहा कि सब देशों की अपनी भाषा है, जापान की जापानी है, जर्मनी की जर्मन है, फ्रांस की फ्रेंच है, रूस की रसियन है, चीन की चीनी है, अरब देशों की अरबी है। अंग्रेजी इंग्लैण्ड की और इंग्लैण्ड के गुलाम रहे देश जैसे अमेरिका, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया की भाषा है। अंग्रेजी को अन्तर्राष्ट्रीय भाषा के रूप में मिथ्या प्रचारित किया जा रहा है। जबकि सच्चाई यह है कि संयुक्त राष्ट्र की छह अधिकारिक भाषाओं में चीनी, स्पेनिश, अंग्रेजी, अरबी, रूसी और फ्रेंच में अंग्रेजी भी एक है।
डॉ मंजू शर्मा ने कहा-जिस मातृभूमि पर जन्म लिया, वह हिन्द हमारी शान है। भावों की अभिव्यक्ति हिन्दी से, हिन्दी ही हमारी पहचान है। नीलम कुलश्रेष्ट ने कहा मैं देवगिरा से प्रकट हुई, भारत माता की बिंदी हूं। सर्वाधिक नेहिल मैं होती। मैं ही प्रिय भाषा हिन्दी हूं।’ डॉ शोभा सिंह ने कहा बचपन की लोरी तुमने दी यौवन को प्रीति के पाठ सिखाए। सुख में ओज भरा गीतों में पीड़ा में करुणा भर लाए। महेश जैन ने कहा कि आज मेरी भाषा का दिन है नमन उन अक्षरों को। जिसने मुझे अभिव्यक्ति के मोती दिए। जिसने मेरे विचारों को गति दी। अंत में नारी दर्पण की मिथिलेश सेंगर ने आभार प्रकट करते हुए कहाकि हिन्दी एक सहज, सरल भाषा है जो पूरे देश को एक सूत्र में पिरोने की सामथ्र्य रखती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *