Home Remedies: एसिडिटी और पेट की जलन से फौरन राहत दिलाएंगे ये घरेलू नुस्खे, आप भी आजमा सकते हैं

आज के समय में खराब जीवन शैली की वजह से एसिडिटी की समस्या काफी आम हो गई है। पेट में तेज दर्द, जलन, सूजन, हिचकी आना...

आज के समय में खराब जीवन शैली की वजह से एसिडिटी की समस्या काफी आम हो गई है। पेट में तेज दर्द, जलन, सूजन, हिचकी आना, पेट फूलना और एसिड रिफ्लक्स इसके सामान्य लक्षण हैं। अगर आप भी अक्सर इन समस्याओं से परेशान होते हैं तो कुछ घरेलू नुस्खों को अपनाकर छुटकारा पा सकते हैं।

Acidity and stomach irritation

केला

केला पेट और पेट की सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर होता है जो पाचन को बढ़ाता है। साथ ही इसमें पोटेशियम भी प्रचुर मात्रा में होता है जो पेट में बलगम के प्रोडक्शन को बढ़ाता है और एक्सट्रा एसिड बनने से रोकता है। इसके लिए आप पके हुए केले का ही सेवन करें।

छाछ

ठंडी छाछ एसिडिटी के लिए लाभदायक होती है। पेट की जलन से राहत पाने के लिए एक गिलास ठंडी छाछ का सेवन जरूर करें। छाछ में लैक्टिक एसिड पाया जाता है जो पेट में एसिडिटी को बेअसर करता है। लैक्टिक एसिड पेट की परत को लेप करके जलन और एसिड रिफ्लक्स के लक्षणों को कम क्र देता है जिससे पेट को आराम मिलता है। इसके साथ ही छाछ एक नेचुरल पाया जाने वाला प्रोबायोटिक है। प्रोबायोटिक्स में मौजूद अच्छे बैक्टीरिया गैस को बनने और पेट में सूजन को रोकते हैं जो एसिड रिफ्लक्स की वजह से बनता है।

ठंडा दूध

ठंडे दूध में कैल्शियम की हाई मात्रा होती है। कैल्शियम हड्डियों के हेल्थ के लिए एक सुपरफूड है। कैल्शियम पीएच संतुलन को बनाए रखने में भी सहायक होता है और पाचन में भी मददगार होता है।

बादाम

एसिडिटी को दूर करने में कच्चा बादाम भी लाभदायक हो सकता है। बादाम नेचुरल तेलों से भरपूर होता है जो पेट में एसिड को शांत करने का काम करता है। पेट को स्वस्थ रखने के लिए आप कच्चे बादाम के सिवा बादाम का दूध भी पी सकते हैं।

पेपरमिंट टी

पेपरमिंट टी पाचन और पेट दर्द में बेहद फायदेमंद होती है। हालांकि, अगर आपको एसिड रिफ्लक्स या जीईआरडी है, तो पुदीने की चाय न पिए क्योंकि इससे समस्या और अधिक बढ़ सकती है।

सौंफ

सौंफ में एनेथोल नामक एक कंपाउंड पाया जाता है जो पेट के लिए हेल्दी एजेंट के रूप में काम करता है। सौंफ पेट में होनी वाली ऐंठन और पेट फूलने से समस्या से राहत दिलाता है। यह विटामिन, मिनरल्स और डायट्री फाइबर से भी भरपूर होता है। इस सारे तत्व पाचन प्रक्रिया के बेहतर बनाने में सहायक होते हैं। अगर आप एसिडिटी और गैस की समस्या का घरेलू उपचार करना छाते हैं तो थोड़ी सौंफ जरूर चबाएं। आप इन्हें पानी में भिगोकर, इसका पानी पी सकते हैं। वहीं तुरंत राहत चाहिए तो इसे चबाकर भी खा सकते हैं।