Jyotish Tips: कुंडली में ग्रह दोष दूर करना चाहते हैं तो आज ही लगाएं यह पौधा, कभी खाली नहीं होगी तिजोरी

नई दिल्ली – किसने कहा कि वास्तु का संबंध केवल इमारतों और वस्तुओं से है? वास्तु शास्त्र को घर में फूल और पेड़ लगाने के लिए भी लगाया जाता है। जब आप अपने घर में एक पेड़ लगा रहे हैं, तो पौधों के लिए वास्तु की जांच करने की सिफारिश की जाती है, क्योंकि फूल/पेड़ लगाने से घर में पर्यावरण और ऊर्जा प्रभावित हो सकती है।

शमी के पौधे के बारे में क्या कहता है वास्तु

वास्तु विशेषज्ञों के अनुसार अगर आपकी कुंडली में शनि का प्रभाव है तो आपको अपने घर में शमी का पेड़ लगाने की जरूरत है। हां, यह सच है कि वास्तु शास्त्र का अध्ययन सबसे अच्छे उपायों में से एक है जो शनि के मुद्दों को हल कर सकता है। शमी के पौधे के लिए उपयुक्त वास्तु स्थान घर की पश्चिम दिशा में होता है। लेकिन अगर आप वास्तु शास्त्र के बारे में नहीं जानते हैं और घर की किसी और दिशा में शमी का पौधा लगा रहे हैं तो शनि के परिणाम ज्यादा होंगे।

शमी वृक्ष का इतिहास
शमी का पेड़ दुनिया के पवित्र पेड़ों में से एक है, और जिसकी प्राचीन काल से पूजा की जाती है। ऐसा माना जाता है कि अगर आप शमी के पेड़ की पूजा कर रहे हैं, तो यह आपके सभी पापों से छुटकारा दिलाता है। हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार, युद्ध से पहले, पांडवों ने अपने हथियार शमी के पेड़ को सौंप दिए और जीत के लिए पूजा की। दरअसल, ज्योतिष और वास्तु शास्त्र दोनों में ही शमी के पेड़ की अहम भूमिका होती है। इसलिए लोग घर के अंदर शमी के पेड़ की उपस्थिति को बहुत महत्व देते हैं।

इस दुनिया में हर चीज के लिए एक विशिष्ट वास्तु शास्त्र है। यदि वास्तु शास्त्र किसी विशेष कार्य या वस्तु के विरुद्ध है, तो यह निश्चित है कि वह कार्य नहीं होने वाला है। इसलिए लोग कुछ नया शुरू करने से पहले वास्तु टिप्स पर विचार करते हैं। मुख्य रूप से जब बात घर में नए निर्माण कार्यों या कमरों की हो। इसी तरह शमी के पौधे लगाने के लिए वास्तु शास्त्र की खोज भी जरूरी है। चूंकि शमी का पौधा एक शक्तिशाली पौधा है, इसलिए पेड़ को उसके उचित स्थान पर रखना बहुत जरूरी है।

वास्तु विशेषज्ञों के वास्तु टिप्स
वास्तु विशेषज्ञ सबसे पहले आपके घर के वास्तु का विश्लेषण करेंगे। आपके घर के समग्र वास्तु को समझने के बाद, वे आपको शमी के पेड़ लगाने के लिए उपयुक्त स्थान का सुझाव देंगे। शमी के पेड़ ज्यादातर घर की पश्चिम दिशा में लगाए जाते हैं। विशेषज्ञ परिसर में पेड़ लगाने के लिए एक शुभ समय और दिन भी प्रदान करते हैं।