धमतरी में चलाया जा रहा है मिशन अव्वल अभियान, जानें इस मिशन के बारे में

img

हाई स्कूल इंटर परीक्षा का वार्षिक परिणाम बेहतर लाने के लिए धमतरी में निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। इसी सिलसिले में जिला शिक्षा विभाग ने मिशन अव्वल अभियान शुरू किया है। मासिक टेस्ट परीक्षा में 80 फीसदी अंक अर्जित करने वाले छात्रों के लिए विशेष कोचिंग की व्यवस्था की जाएगी, इसके लिए शिक्षा विभाग की पहल शुरू हो गई है।

जल्द ही ऐसे छात्रों के लिए कोचिंग का बंदोबस्त किया जाएगा। हालांकि मेरिट सूची में लाना किसी चुनौती से कम नहीं है। वहीं कमजोर बच्चों के लिए शिक्षा रूट चार्ज बनाया गया है। एक्सट्रा क्लास लगाकर इन बच्चों को नोट्स तैयार कराने पहल होगी।

बीते सत्र में 10वीं बोर्ड का परीक्षा परिणाम 72.71 प्रतिशत और 12वीं का 82.89 प्रतिशत रहा। धमतरी का रिजल्ट संतोषप्रद रहा, पर जिले से एक भी छात्र का नाम मेरिट सूची में नहीं आया। यह स्थिति वर्ष 2023-24 में न हो, इसलिए जिला शिक्षा विभाग पहले से तैयारी कर रहे हैं और जिले के विद्यार्थियों को मेरिट सूची में लाने के लिए मिशन अव्वल अभियान शुरू किया गया है।

इस अभियान के तहत शिक्षा विभाग के अफसर व शिक्षक स्कूलों में तैयारी करा रहे हैं। मिशन के तहत हर शासकीय हाई और हायर सेकेंडरी स्कूलों में एक माह की पढ़ाई के बाद छात्र-छात्राओं के शैक्षणिक आंकलन के लिए पाठ्यक्रम पर आधारित बोर्ड परीक्षा के ब्लू प्रिंट को आधार मानते हुए 25 नंबरों का टेस्ट एग्जाम लिया गया है। दिसंबर-जनवरी माह में फिर से छात्रों का आंकलन टेस्ट होगा, इसके लिए टाइम टेबिल भी घोषित कर दी गई है।

मिशन अव्वल अभियान के तहत एक जनवरी से 10वीं-12वीं बोर्ड का प्री-बोर्ड परीक्षा आयोजित किया जाएगा। एक जनवरी से पांच जनवरी तक परीक्षा आयोजित होगी। फरवरी माह में प्री-बोर्ड-टू परीक्षा का आयोजन होगा। इसमें छात्रों का आंकलन कर उन्हें बोर्ड परीक्षा के लिए तैयार किया जाएगा। विद्यार्थियों को तीन वर्गो में विभाजित करके तैयारी कराई जाएगी। टेस्ट परीक्षा में मिले अंकों के आधार पर दोनों कक्षाओं के विद्यार्थियों को तीन वर्गो में बांटा जाएगा। 
 

Related News