इक़बाल अंसारी का मुकदमा वापस, उठ रहे ये बड़े सवाल

वर्तिका सिंह ने 19 सितंबर 2019 को थाना रामजन्मभूमि में पहला मुकदमा दर्ज कराया था जिसमें इकबाल अंसारी समेत तीन लोगों के खिलाफ तहरीर दी गयी थी। न्यायालय के आदेश पर मुकदमा दर्ज हुआ था। वर्तिका सिंह के वकील रोहित त्रिपाठी ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने आरोपी को ही गवाह बना दिया है।

अयोध्या। बाबरी मस्जिद के पक्षकार रहे इकबाल अंसारी के खिलाफ दर्ज मुकदमे में फाइनल रिपोर्ट लगने के बाद अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज वर्तिका सिंह भड़क उठी हैं। वर्तिका सिंह ने धारा 156/3 के तहत इकबाल अंसारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए न्यायालय में दिए प्रार्थना पत्र में कहा है कि जिन बिंदुओं पर जांच नहीं हुई है उस पर दुबारा जांच की जाये। मामले की 14 अक्टूबर को सुनवाई होगी।

vartika_iqbal

बता दें कि वर्तिका सिंह ने 19 सितंबर 2019 को थाना रामजन्मभूमि में पहला मुकदमा दर्ज कराया था जिसमें इकबाल अंसारी समेत तीन लोगों के खिलाफ तहरीर दी गयी थी। न्यायालय के आदेश पर मुकदमा दर्ज हुआ था। वर्तिका सिंह के वकील रोहित त्रिपाठी ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने आरोपी को ही गवाह बना दिया है।

यह भी आरोप है कि प्रकरण में वर्तिका सिंह के भाई का बयान नहीं लिया गया। गौरतलब है कि सितंबर 2019 में अयोध्या पहुंचकर वर्तिका सिंह ने इकबाल अंसारी से मुलाकात भी की थी । मुलाकात के दौरान इकबाल अंसारी और वर्तिका सिंह के बीच कहासुनी की बात भी सामने आयी थी। वर्तिका सिंह ने इकबाल अंसारी पर प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री पर अभद्र टिप्पणी का भी बड़ा आरोप लगाया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *