Mint Benefits in Hindi: मिंट के ये लाभ जानने के बाद आप भी पुदीना खायेगे

गर्मी में पुदीना (Mint) बहुत फायदेमंद होता है। ठंडेपन के साथ साथ ये आपको बहुत सारे पोषक तत्त्व प्रदान कर सकता है, साथ ही साथ मिंट स्वाद में अच्छा होता है।दोस्तों मिंट एक वर्सेटाइल हर्ब है मतलब की पुदीना को आप किसी भी चीज के साथ मिलाकर खा सकते हैं।आज इस आर्टिकल में हम आपको पुदीने के कुछ ऐसे लाभकारी गुण बताएंगे जिसको सुनकर आप पछताएंगे कि आज तक पुदीना क्यों नही खा रहे थे।लेकिन पुदीना के लाभ बताने से पहले हम आपको पुदीना के बारे में कुछ जानकारी देगे।

पुदीना

Lucky Plants: घर में ये 5 पौधे लगाने से कभी नहीं होगी पैसों की कमी, बस ये एक गलती ना करें

पुदीना (Mint)

पुदीना या मेंथा लैमियासी (Lamiaceae) परिवार से संबंधित है, जिसमें लगभग 15 से 20 पौधों की प्रजातियां शामिल हैं, जिनमें पेपरमिंट (Peppermint) और स्पीयरमिंट (Spearmint) शामिल हैं।यह एक लोकप्रिय जड़ी बूटी है जिसे कई प्रकार के व्यंजनों में ताजा या सूखा उपयोग कर सकते हैं।टूथपेस्ट, गोंद, कैंडी (candy) और सौंदर्य उत्पादों के निर्माता अक्सर पुदीने के तेल (Mint oil) का उपयोग करते हैं।

खाना पकाने में ताजा पुदीना और अन्य जड़ी-बूटियों और मसालों का उपयोग करने से नमक अर्थात् सोडियम और चीनी का कम प्रयोग करके भी स्वाद बढ़ सकते है।इतिहास में, लोगों ने चिकित्सा में पुदीने के पौधों की विभिन्न प्रजातियों का उपयोग किया है।विभिन्न प्रकार के पुदीने की प्रजातियां कई प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट (Anti-oxidant) गुण और संभावित स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं, खासकर उन लोगों के लिए जो इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम ( Irritable bowel syndrome or IBS) से पीड़ित है।

पुदीना में कौन कौन से पोषक तत्त्व पाए जाते हैं

⅓ कप पुदीने से करीब निम्न पोषक तत्व पाए जाते हैं।

●     कैलोरी (Calorie): 6

●     फाइबर (Fiber): 1 ग्राम

●     विटामिन ए (Vitamin A): आरडीआई का 12%

●     आयरन (Iron): RDI का 9%

●     मैंगनीज (Manganese): RDI का 8%

●     फोलेट (Folate): RDI का 4%

पुदीना खाने के फायदे

मिंट के निम्नलिखित फायदे हो सकते हैं।पेट की समस्याओं से आराम दिलाता है।पुदीना एक जड़ी बूटी है कि लोगों में पेट की ख़राबी या अपच को ठीक करने के लिए हजारों साल से इस्तेमाल किया जा रहा है।

एक 2019 में किए गए शोध के स्रोत में पाया गया कि मिंट ऑयल अपच, आईबीएस (Irritable bowel syndrome), बच्चों में पेट दर्द, और सर्जरी के बाद बीमार जैसे महसूस करने वाली बीमारी को ठीक करने में मदद करता है।उसी वर्ष एक अलग स्टडी पाया गया कि पुदीना तेल IBS के साथ वयस्कों में दर्द के लक्षणों के लिए एक सुरक्षित और प्रभावी दवा है।हालांकि, एक 2019 में IBS से पीड़ित 190 लोगों में किए गए अध्ययन में पाया गया कि पुदीना तेल बहुत सारे लक्षणों को कम करने में प्रभावी नहीं है।

एलर्जी से छुटकारा देता है

पुदीना की पत्तियों में एक rosmarinic acid नाम का एंटीऑक्सीडेंट (Anti-oxidant) और एंटी इंफ्लेमेटरी (Anti-inflammatory) एजेंट पाया जाता है।2019 में चूहों में किए गए अध्ययन में पाया गया कि रोस्मारिनिक अम्ल अस्थमा (Asthma) के लक्षणों को कम करता है।इरीटेबल बॉवेल सिंड्रोम से आराम दिलाता है।इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रोम (IBS) एक सामान्य पाचन तंत्र का रोग है।इस बीमारी में पेट में दर्द (Stomach ache), गैस (Acidity), सूजन और शौच की आदतों में परिवर्तन जैसे लक्षण दिखाई देते हैं।शोध से पता चलता है कि इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रोम में पेपरमिंट ऑयल को हर्बल उपचार के रूप में लेना भी फायदेमंद हो सकता है।

पेपरमिंट ऑयल में मेन्थॉल (Menthol) नामक एक यौगिक होता है, जो पाचन तंत्र की मांसपेशियों को आराम प्रदान करता है जिससे इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रोम में राहत मिलती है।इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रोम और पेपरमिंट ऑयल में कनेक्शन जानने के लिए एक्सपर्ट और वैज्ञानिकों ने करीब 9 अध्ययन किए जिसमें आईबीएस से पीड़ित लगभग 700 लोगों शामिल किया गया, इन अध्ययनों में पाया गया कि आईबीएस में पिपरमिंट ऑयल प्लेसबो कैप्सूल से ज्यादा फायदेमंद होता है।

दिमाग की क्रियाशीलता बढाता है

144 लोगो में किए गए अध्ययन से पता चला है कि पिपरमिंट ऑयल के अरोमा को लगातार 5 मिनट तक सूघने से उनकी याददाश्त में प्रभावी सुधार हुआ है।एक और स्टडी में पता चला है कि गाड़ी चलाते समय पिपरमिंट ऑयल को सूघने से क्रियाशीलता बढ़ाता है और चिड़चिड़ापन (Frustration), anxiety और फटीग (fatigue) घटाता है।

सांस में बदबू से आराम दिलाता है

मिंट-फ्लेवर्ड च्युइंग गम को चबाने से सांस की बदबू से निजात मिल सकती है।विशेषज्ञ इस बात से सहमत हैं कि इनमें से अधिकांश उत्पाद कुछ घंटों के लिए सांसों की दुर्गंध से निजात दिलाते हैं, हालांकि, वे केवल सांस की बदबू को दूर करते हैं, बैक्टीरिया और वायरस को नहीं कम करते हैं।

सर्दी के लक्षणों से आराम दिलाता है

पुदीना में मेंथॉल नाम का एक एरोमेटिक डिकन्जेसटैन्ट (Decongestant) होता है जो सर्दी से राहत दिलाता है।छोटे बच्चों को सर्दी से राहत दिलाने के लिए यह एक सुरक्षित और प्रभावी दवा है।हालांकि, अमेरिकन लंग एसोसिएशन (American Lung Association) ने सलाह दी है कि वैज्ञानिक अध्ययन ठंड के लक्षणों के प्रबंधन के लिए मेन्थॉल के उपयोग का समर्थन नहीं करते हैं।

पुदीना के साइड इफेक्ट

सभी चीजों की तरह पुदीना के भी कुछ साइड इफेक्ट्स है।Gastroesophageal reflux disease (GERD) से पीड़ित व्यक्ति को पुदीने का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि यह Gastroesophageal reflux disease के लक्षणों को बढ़ा देता है।शिशु या छोटे बच्चे के चेहरे पर पुदीने का तेल न लगाएं, क्योंकि इससे ऐंठन हो सकती है जो सांस लेने में बाधा उत्पन्न करती है।शुद्ध मेन्थॉल जहरीला होता है और इसका आंतरिक उपयोग के लिए नहीं करना चाहिए।

Monkeypox in Hindi: सावधान! अगर आपको भी हैं ऐसे लक्षण तो हो सकता है मंकीपॉक्स