PETN का डर दिखाकर कहीं, सरकार विपक्ष को डराने की तैयारी में तो नहीं

img

www.upkiran.org

यूपी किरण ब्यूरो

लखनऊ।। पिछले 5 दिनों से यूपी विधानसभा में बरपे हंगामे से पुरे देश में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गयी, खबर मिली थी सपा विधायक मनोज पाण्डेय की सीट के नीचे 500 ग्राम विस्फोटक पाउडर रखा है।

दो करोड़ के रिश्वत का पर्दाफाश करने वाली महिला IPS का तबादला

तभी सीएम योगी ने तत्काल जांच एनआईए को सौंप दी। पहले योगी सरकार के तमाम विस्फोटक जानकारों की तरफ से बताया गया था कि विधानसभा में मिला संदिग्ध पाउडर PETN यानी बेहद खतरनाक प्लास्टिक विस्फोटक है।

बीजेपी के दो माननीय कर रहे थे महिला MLA से अश्लील बातें

इस विस्फोटक की पोल खुलने के बाद तमाम विस्फोटक जानकारों की किरकिरी हो गयी।

जवान ने अपने मेजर को ही मार दी गोली, शव के पास से ग्रेनेड और पिस्टल बरामद

विस्फोटक पाउडर की जांच के लिए आनन्-फानन में एनआईए टीम बुला ली गयी। सुरक्षा व्यवस्था ऐसे टाइट कर दी गयी जैसे कोई बादशाह विधानसभा में रहने आ गए हो। विस्फोटक पाउडर की जांच करने वाली आगरा फॉरेंसिक लैब की विस्फोटक रिपोर्ट में बताया गया कि संदिग्ध पाउडर विस्फोटक नहीं है।

सैलून में चल रहा था सेक्स रैकेट, पुलिस ने इस तरह दबोचा की लड़कियां सन्न रह गईं

इस पाउडर की जांच लैब के चार वरिष्ठ वैज्ञानिकों की टीम ने की थी। डिप्टी डायरेक्टर एके मित्तल की अगुवाई में इस पाउडर की जांच हुई है। लैब रिपोर्ट के मुताबिक, पाउडर में किसी भी विस्फोटक के कण नहीं मिले हैं।

बीजेपी कार्यकर्ता ने की इशारेबाजी तो युवती ने इस तरह सिखाया सबक

उन्होंने कहा, अगर लखनऊ के जांचकर्ताओं में कोई संदेह न होता तो यह नमूने हमें नहीं भेजे जाते। यह पदार्थ 12 जुलाई को और 14 जुलाई को आधिकारिक तौर पर पीईटीएन घोषित किया गया था।

फोटोः फाइल

इसे भी पढ़ें

http://upkiran.org/5523

 

Related News