इस देश ने इजराइल को बताया ट्यूमर, कहा- इस वायरस को करना होगा खत्म

ईरान ने एक बार फिर इजराइल पर सख्त रुख अपनाया है. आपको बता दें कि ऐसे में ईरान के सुप्रीम लीडर अयोतुल्लाह खामनेई ने शुक्रवार को फिलिस्तीनियों से इजरायल के खिलाफ संघर्ष जारी रखने की अपील की और कहा कि इजरायल की सरकार एक ट्यूमर है जिससे फिलीस्तीनियों को आजादी मिलने तक लड़ना होगा.

गौरतलब है कि सुप्रीम लीडर ने कहा, फिलीस्तीन को आजाद कराने की लड़ाई इस्लामिक जिहाद है और हमारा कर्तव्य है…इजरायल की जियोनिस्ट (यहूदीवादी) सत्ता पूरे मध्य-पूर्व का कैंसरजनक ट्यूमर है. उन्होंने कहा, आज दुनिया कोरोना वायरस के हर एक पीड़ित की गिनती कर रही है लेकिन किसी ने कभी ये सवाल नहीं किया कि फिलिस्तीन और अमेरिका-यूरोप ने जहां-जहां युद्ध किए, वहां हजारों मौतों, कैदियों और लोगों के लापता होने के लिए जिम्मेदार कौन है.

ईरान के सुप्रीम लीडर ने ऑनलाइन स्पीच में कहा, लंबे समय से चले आ रहे जियोनिस्ट वायरस को खत्म करना होगा. खामनेई और अन्य ईरानी अधिकारी कई सालों से यहूदी राष्ट्र के खात्मे की बात करते रहे हैं. इसमें क्षेत्र में जनमतसंग्रह कराने की मांग भी शामिल है जहां फिलीस्तीनी बहुसंख्यक हैं.

खामनेई ने कुद्स दिवस पर दिए गए भाषण में ये बातें कहीं. कुद्स जेरुसलम का अरबी रुपातरंण है. कुद्स दिवस रमजान महीने के आखिरी शुक्रवार को मनाया जाता है. कुद्स दिवस मनाने का ऐलान ईरान में 1979 की इस्लामिक क्रांति के जनक अयोतुल्लाह रूहल्ला खुमैनी ने किया था.

UP- सीएम योगी को मिली बम से उड़ाने की धमकी, इस नंबर से दी गई थी धमकी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *