पेट्रोल को लेकर प्रदेशों से आई ये राहत भरी खबर

श्रीधर ने बताया कि सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में एथनॉल मिश्रण लक्ष्य को प्राप्त किया गया है

भारत में कच्चे तेल के इंपोर्ट में कमी लाने के लिए सरकार की पेट्रोल में एथेनॉल ब्लेंडिंग की कोशिशें रंग लाती दिखाई पड़ रही है। पेट्रोल के साथ एथनॉल मिक्चर के उद्देश्य को सभी राज्य़ एवं केंद्रशासित राज्यों में प्राप्त किया गया है। नवंबर को समाप्त होने वाले विपणन वर्ष 2020-21 में ये मिश्रण स्तर लगभग 8.3 % तक पहुंचने की संभावना है।

Petrol Diesel

आपको बता दें कि वही पब्लिक सेक्टर की कंपनी हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लि.एचपीसीएल) के एक अधिकारी ने 8 अक्टूबर को ये कहा। वर्ष 2019-20 में पेट्रोल के साथ एथनॉल मिश्रण का स्तर 5 % था।

भारतीय चीनी मिल (संघ इस्मा) के एक वेबिनार को संबोधित करते हुए, HPCL के कार्यपालक निदेशक सी श्रीधर गौड़ ने बताया कि वर्तमान समय में एथनॉल आपूर्ति वर्ष (दिसम्बर से नवम्बर) में एथनॉल मिश्रण स्तर बीते दो वर्षों में 5 % के औसत से तकरीबन 8.2-8.3 % तक पहुंचने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि एथनॉल मिश्रण प्रोग्राम पूरे राष्ट्र में पहुंच गया है।

इसके साथ ही श्रीधर ने कहा कि सिक्किम आखिरी राज्य था। चार दिन पहले, हम सिक्किम भी पहुंचे। सभी राज्यों में एथनॉल मिलाने का कार्य हो रहा है। श्रीधर ने बताया कि सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में एथनॉल मिश्रण लक्ष्य को प्राप्त किया गया है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि वर्ष 2021-22 एथनॉल आपूर्ति अथवा विपणन वर्ष में पेट्रोल में 10 % मिलाने का स्तर हासिल कर लिया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *