Vegetable prices hiked: सब्जियों की कीमतों बिगाड़ा बजट, टमाटर ने पार किया 100 के आंकड़े को

पेट्रोल-डीजल के बाद अब सब्जियों के दाम ने भी आम जनता का बजट बिगड़ दिया है। वहीं तेल और दाल के भाव ने भी आम इंसान का जीना मुश्किल कर दिया है।

नई दिल्ली। पेट्रोल-डीजल के बाद अब सब्जियों के दाम ने भी आम जनता का बजट बिगड़ दिया है। वहीं तेल और दाल के भाव ने भी आम इंसान का जीना मुश्किल कर दिया है।

Vegetable

सेब से महंगी बिक रही सब्जियां

मौजूदा समय में कई सब्जियां सेब से भी मंहगी बिक रही हैं। यहां तक की सर्दियों के मौसम ने सस्ती बिकने वाली मटर और टमाटर की कीमत भी इस समय आसमान छू रही है। आमतौर पर इस मौसम में टमाटर 20/25 रुपये किलो बिकता है कि लेकिन इस साल ये आज 100 रुपये किलो तक पहुंच गया है। वहीं मटर के भाव भी आसमान छू रहे हैं। मटर कई जगह पर 100, 150 और 200 रुपये किलो तक में बिक रही है। सब्जियों की बढ़ी हुई कीमतों से ग्राहक तो परेशान हैं ही सब्जी विक्रेताओं की हालत भी खराब है क्योंकि सब्जियों के इस तरह से महंगे होने से बिक्री में काफी कमी आ गयी है।

सब्जियों के भाव

सब्जी                   कीमत/किलो
मटर-                    100 रुपये
टमाटर-                 80 रुपये
आलू-                    30 रुपये
भिंडी –                   80 रुपये
प्याज –                  60 रुपये
नींबू –                    60 रुपये
पालक –                 40 रुपये
अदरक-                 100 रुपये
लहसन-                 200 रुपये
बैंगन-                    60 रुपये
कच्चा केला-            60 रुपये
कच्चा पपीता-          60 रुपये
बंद गोभी-               60 रुपये
पत्ता गोभी-            60 रुपये
लौकी-                    60 रुपये
फूल गोभी-              60 रुपये
अरबी-                    80 रुपये
परवल/पटल-           80 रुपये
छोटा बैंगन-            60 रुपये
कद्दू-                      40 रुपये
करेला-                   80 रुपये
देसी खीरा-              60 रुपये
ककड़ी-                   60 रुपये
लाल शिमला मिर्च-   400 रुपये
शिमला मिर्च-         120 रुपये
कंदरू-                    80 रुपये
फ्रिंच बीन्स-            160 रुपये
हाईटब्रीड खीरा-        60 रुपये
मशरूम-                 60 रुपये
गाजर-                   60 रुपये
कटहल-                 60 रुपये
स्वीट कॉर्न-            30 रुपये
ब्रोकली-                 300 रुपये
फलीदार सेम-        120 रुपये
मूली-                    60 रुपये
थोरी-                    80 रुपये

सब्जियों के महंगी होने की वजह

सब्जियों के महंगी होने के पीछे कई कारन हैं। दक्षिण भारत में भारी वर्षा के चलते फसल खराब होने से टमाटर के दामों में बंपर उछाल आया है। दरअसल, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में बाढ़ के कारण टमाटर की फसल लगभाग खराब हो गयी है। फ्यूल महंगा होने की वजह से छोटे स्तर पर सब्जियों की ढुलाई नहीं हो रही है। तीसरी बड़ी वजह है शादियों का सीजन। शादी का मौसम शुरू हो गया है और सब्जियों की मांग भी तेजी से बढ़ गयी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *