योगी सरकार ने शुरू की, ‘जय हिन्द वीर पथ योजना’, जाने…

योगी सरकार ने देश की रक्षा करते हुए शहीद होने वाले वीर जवानों के नाम से ‘जय हिन्द वीर पथ योजना’ शुरू की गई है। बता दें कि इस योजना के तहत शहीद के घर तक पक्की सड़क लोक निर्माण विभाग बनाएगा।

लखनऊ। योगी सरकार ने देश की रक्षा करते हुए शहीद होने वाले वीर जवानों के नाम से ‘जय हिन्द वीर पथ योजना’ शुरू की गई है। बता दें कि इस योजना के तहत शहीद के घर तक पक्की सड़क लोक निर्माण विभाग बनाएगा। शहीदों के नाम पर तोरणद्वार भी बनाए जाएंगे। यहां पर बलिदानी सैनिकों के शौर्य का विवरण लिखा जाएगा।
                 
उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने बताया कि देश की रक्षा करते हुये शहीद होने वाले वीर जवानों के नाम से ‘जय हिन्द वीरपथ योजना’ के तहत शहीदों के घरों, गावों तक सड़कों का निर्माण किया जायेगा। यही नहीं वहां पर शहीदों के नाम से द्वार बनाये जाएंगे और बड़े एवं आकर्षक बोर्ड लगाकर बलिदानी सैनिकों का विवरण अंकित किया जायेगा तथा उनके सम्मान में एक सम्मान पत्र भी उनके परिवारीजनों को दिया जायेगा।

किया गया सम्मानित…

जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को अपने सरकारी आवास पर लोक निर्माण विभाग के अफसरों के साथ बैठक में कहा कि सेना के उन जवानों को, जिन्हे वीर चक्र, परमवीर चक्र आदि से सम्मानित किया गया है उन्हे भी जय हिन्द वीरपथ मार्ग योजना के तहत लाभ मिलेगा और उनके उनके गावों तक सड़कें व द्वार बनाये जायेंगे। उन्होंने शुक्रवार को निर्देश दिए कि यह कार्य कराते समय वहां कि वीडियो फिल्म बनायी जाए और उसका प्रसारण सोशल मीडिया सहित अन्य मीडिया प्लेटफार्मों के जरिए कराया जाए। वहीं उपमुख्यंत्री मौर्य ने कहा कि इसके साथ ही जिस तरह से मेजर ध्यानचन्द पथ योजना के तहत राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों के घरों तक सड़के बनावायी जा रही हैं और उन्हे सम्मानित किया जा रहा है, उसी तरह से डाॅ. एपीजे अब्दुल कलाम गौरव पथ योजना में सम्बन्धित छात्र-छात्राओं को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जाए।
केशव मौर्य ने विश्व बैंक व एशियन डेवलपमेन्ट बैंक से सहायतित योजनाओं के बारे में जानकारी करते हुये निर्देश दिये, कि इसके अगले पैकेज की अभी से तैयारी सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में संतुलित रूप से सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है, किसी भी क्षेत्र के साथ कोई भेदभाव किसी भी दशा में नहीं होने दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि 40 लाख तक के ठेकों में आरक्षण सम्बन्धी पत्रावली पूरी कर तत्काल प्रस्तुत की जाए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close