प्रमोशन में रिजर्वेशन की मांग तेज, भाजपा सांसद को संघर्ष समिति ने सौंपा ज्ञापन

img

लखनऊ ।। आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति संयोजक मंडल ने आज (बुधवार) भाजपा सांसद सुश्री सावित्री बाई फुले के साथ की लम्बी बैठक और बातचीत की। इस दौरान उन्हें ज्ञापन भी सौंपा गया।

सांसद सुश्री सावित्री बाई फुले ने भरोसा दिया है कि प्रधानमंत्री से जल्द समय लेकर संघर्ष समिति संयोजकों की मुलाकात कराएंगी। जिससे पदोन्नति बिल पर चर्चा हो सके।

भाजपा सांसद सुश्री सावित्री बाई फुले ने कहा पदोन्नति बिल पास होना बहुत जरूरी, लोकसभा का सत्र शुरू होते ही अन्य दलित सांसदों के साथ पदोन्नति बिल पास कराने हेतु पुरजोर ढंग से उठाऊंगी मुद्दा।

लोकसभा में लम्बित पदोन्नति में आरक्षण संवैधानिक संशोधन 117वां बिल को पास कराने को लेकर आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति यूपी आज से देश के सभी राजनैतिक दलों के लगभग 146 दलित सांसदों से सहयोग मांगने हेतु मुलाकात का सिलसिला शुरू किया है।

इसी क्रम में आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति (यूपी) के संयोजक अवधेश कुमार वर्मा के नेतृत्व में संघर्ष समिति के अन्य संयोजकों सर्वश्री डा. रामशब्द जैसवारा, आरपी केन, अनिल कुमार, अजय कुमार, अन्जनी कुमार, बनी सिंह, अशोक सोनकर ने भाजपा से बहराइच की सांसद सुश्री सावित्री बाई फुले से राज्य अतिथि गृह, मीराबाई मार्ग, लखनऊ में मुलाकात कर लम्बी बैठक की और एक ज्ञापन सौंपा।

संघर्ष समिति के नेताओं ने यूपी की सपा सरकार में 5 साल तक दलित कर्मचारियों के साथ किये गये घोर उत्पीड़न पर विस्तार से चर्चा करते हुए यह मुद्दा उठाया कि भाजपा सरकार बनने के बाद लोकसभा में पिछले 3 वर्षों पदोन्नति बिल लम्बित है, जिसके चलते यूपी में लगभग 3 लाख दलित कार्मिकों को रिवर्ट किया गया। इसमें से ज्यादातर को वरिष्ठता में और कुछ को पदों से रिवर्ट किया गया। उनके सामने यह भी मुद्दा उठाया गया कि वर्तमान में भी लगभग 2 लाख दलित शिक्षकों को रिवर्ट करने की साजिश की जा रही है।

संघर्ष समिति के शीर्ष नेताओं से लगभग 2 घण्टे तक विस्तार से चर्चा करने के उपरान्त सांसद सुश्री सावित्री बाई फुले ने संघर्ष समिति संयोजकों को आश्वासन दिया कि पदोन्नति बिल अविलम्ब पास होना देश के दलित कार्मिकों के हित में बहुत ही जरूरी है, जल्द ही उनके द्वारा देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से समय लेकर संघर्ष समिति के नेताओं से मुलाकात करायी जायेगी। आप सभी लोकसभा में लम्बित पदोन्नति बिल को पास कराने हेतु उनके सामने अपनी बात रखे। मैं स्वयं भी अन्य सांसदों के सहयोग से लोकसभा का सत्र प्रारम्भ होते ही पदोन्नति में आरक्षण बिल को पास कराने हेतु मामला सदन में पुरजोर ढंग से उठाऊंगी।

संघर्ष समिति के नेताओं ने पुनः एलान किया है कि एक तरफ दलित सांसदों से मुलाकात का सिलसिला जारी रहेगा और वहीं दूसरी तरफ हर जिले में सम्मेलन व गांव-गांव तक जन जागरण अभियान चलाकर दलित पिछड़ों को एकजुट किया जायेगा।

फोटोः सांसद सुश्री सावित्री बाई फुले को ज्ञापन सौंपते हुए आरक्षण बचाओं संघर्ष समिति के पदाधिकारी।

Related News