Assembly Election 2022: बीजेपी ने बदली रणनीति,अब नहीं कटेगा मौजूदा विधायकों का टिकट

उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव 2022 का बिगुल बज चुका है। इसी के साथ ही नेताओं के इधर से उधर भागने का दौर...

लखनऊ। उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव 2022 का बिगुल बज चुका है। इसी के साथ ही नेताओं के इधर से उधर भागने का दौर भी शुरू हो गया है। भाजपा के कई विधायकों ने हाल ही में पार्टी से इस्तीफा देकर अन्य पार्टियों का दामन थाम लिया है। भाजपा छोड़ने के बाद स्वामी प्रसाद मौर्य, धर्म सिंह सैनी, भगवती सागर, विनय शाक्य, रोशन लाल वर्मा, मुकेश वर्मा और बृजेश कुमार प्रजापति शुक्रवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में पार्टी में शामिल हो गए।

CM YOGI

एक रिपोर्ट के अनुसार उत्तर प्रदेश में भाजपा के एक सीनियर नेता बताया कि ऐसी उम्मीद थी कि इस बार लगभग 30 फीसदी मौजूदा विधायकों के टिकट नहीं दिया जायेगा लेकिन पार्टी ने अब अपना मन बदल लिया है। अब पार्टी आलाकमान सिर्फ 10 से 15 फीसदी मौजूदा विधायकों को ही टिकट देने से इनकार कर सकता है। बताया जा रहा है कि चुनाव से ठीक पहले लगातार कई विधायकों के पार्टी छोड़ने से जनता में योगी सरकार को लेकर नकारात्मक संदेश जाने की आशंका है।

सूत्रों के मुताबिक पार्टी अब उन्हीं मौजूदा विधायकों के टिकट के कटेगी जिनके खिलाफ स्थानीय लोगों की नाराजगी है। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में भाजपा बीते छह माह से हर विधायक का जमीनी रिपोर्ट कार्ड तैयार कर रही थी। ऐसे लगभग 100 विधायकों के टिकट काटे जाने की बात की जा रही थी। ऐसे में चुनाव तिथियों का ऐलान होते ही एक दर्जन नेताओं ने पार्टी छोड़ दी जिससे पार्टी के खिलाफ जनता में नकारात्मक संदेश जाने लगा।

यूपी में 7 चरणों में होगी वोटिंग

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तिथियां घोषित कर दी गई हैं। इस बार यहां सात चरणों में मतदान होगा और 10 मार्च को मतों की गणना की जाएगी। बता दें कि देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में विधानसभा की कुल 403 सीटें हैं। वर्ष 2017 के यहां भाजपा को शानदार सफलता मिली थी। उत्तर प्रदेश में मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल 14 मई 2022 को समाप्त हो जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close