BJP को लगेगा सबसे बड़ा झटका, इस नेता को विपक्ष में जाने से रोकने के लिए भाजपा न लगाई पूरी ताकत

मुकुल को तृणमूल में जाने से रोकने के लिए BJP न लगाई पूरी ताकत, रॉय बोले- बहुत देर हो चुकी

कोलकाता॥ एक दौर में ममता बनर्जी के राइट हैंड रहे और बाद में BJP के मुख्य रणनीतिकार बने मुकुल रॉय BJP के बड़े नेताओं से नाराज हैं। रॉय के TMC में वापसी की खबरें आने के बाद BJP के कई बड़े नेताओं ने रॉय से संपर्क करने की कोशिश की है किंतु उन्होंने केन्द्रीय नेताओं के फोन उठाना बंद कर दिया है। बताया जा रहा है कि BJP तगड़ा झटका जल्द लगने वाला है।

bjp

मुकुल रॉय के TMC में जाने से रोकने के लिए BJP नेताओं ने पूरी कोशिश कर ली। सूत्रों की मानें तो उन्हें मनाने के लिए BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से लेकर बंगाल प्रभारी कैलाश विजवर्गीय, सह प्रभारी अरविंद मेनन, अमित शाह के राइट हैंड माने जाने वाले भूपेंद्र यादव सहितत कई अन्य वरिष्ठ केंद्रीय नेता निरंतर संपर्क साधने की कोशिश की। किंतु रॉय किसी का भी फोन नहीं उठा रहे हैं।

समाचार एजेंसी को मुकुल के एक करीबी सूत्र ने बताया कि उन्होंने कह दिया है कि अब बहुत देर हो चुकी। BJP में बने रहने का कोई औचित्य नहीं रह गया है। सूत्रों ने बताया है कि 2017 के अक्टूबर महीने में BJP में शामिल होने के बाद मुकुल रॉय ने 2018 के पंचायत चुनाव, 2019 के लोकसभा चुनाव और 2021 के विधानसभा चुनाव में पार्टी की जीत के लिए जीतोड़ कोशिश की थी।

उन्होंने ममता बनर्जी की पार्टी की जड़ें हिलाते हुए सभी बड़े नेताओं को BJP में शामिल करा दिया था, किंतु प्रदेश BJP ने उन्हें कभी भी अहमियत नहीं दी गई। यहां तक कि जब आजादी के बाद बंगाल में BJP 77 सीटें जीतकर पहली बार राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी बनी है।

तब भी मुकुल रॉय को नजरअंदाज किया गया और विधायक के तौर पर उनकी जीत के बावजूद ममता बनर्जी को हराने वाले शुभेंदु अधिकारी को नेता प्रतिपक्ष बना दिया गया। वह भी तब जब शुभेंदु अधिकारी मुकुल रॉय से काफी जूनियर हैं। राजनीति का लंबा वक्त शुभेंदु ने मुकुल की छत्रछाया में बिताया है। माना जा रहा है कि पार्टी में उपेक्षा को रॉय बर्दाश्त नहीं कर सके।

बॉलीवुड के इस एक्टर के दिवाने हैं पूर्व पाकिस्तानी गेंदबाज शोएब अख्तर, नाम जानकर हैरान रह जाएंगे आप

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *