सीमा विवाद: हॉट स्प्रिंग्स से हटेगा Dragon? कल होगी 13वें दौर की सैन्य वार्ता

लंबे समय से भारत चीन सीमा पर जारी गतिरोध के बीच एलएसी के पास के बाकी स्थानों से सैनिकों को पीछे हटाने की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के मकसद...

नई दिल्ली। लंबे समय से भारत चीन सीमा पर जारी गतिरोध के बीच एलएसी के पास के बाकी स्थानों से सैनिकों को पीछे हटाने की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के मकसद से भारत और चीन के मध्य उच्च स्तरीय सैन्य वार्ता का अगला दौर कल यानी रविवार को होगा। माना जा रहा है कि भारत के लद्दाख कोर कमांडर और चीनी दक्षिण शिनजियांग सैन्य जिला कमांडर के मध्य ये मीटिंग रविवार को चुशुल में होगी। इस दौर की सैन्य वार्ता में पेट्रोलिंग प्वाइंट 15 या हॉट स्प्रिंग्स से डी-एस्केलेशन होगा।

Border dispute

अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक दोनों पक्षों ने 13वें दौर की सैन्य वार्ता की तैयारियों के अंतर्गत विवरण का आदान-प्रदान किया है ताकि सीमा के बाकी स्थानों पर गतिरोध खत्म करने पर बल दिया जा सके। सैन्य सूत्रों के मुताबिक कोर कमांडर स्तर की वार्ता के अगले दौर में हॉट स्प्रिंग्स और कुछ अन्य क्षेत्रों से सैनिकों को पीछे हटाने पर चर्चा हो सकती है।

बताते चलें कि भारत ने विभिन्न स्तरों पर ये साफ कर दिया है कि सीमा पर यथास्थिति में कोई बदलाव स्वीकार नहीं किया जाएगा। इसके साथ ही भारत कूटनीतिक तौर पर चीन को भी लगातार यह संदेश दे रहा है।एक्सपर्ट्स की मानें तो वरिष्ठ सैन्य कमांडर दक्षिण डेमचोक में देपसांग बुलगे और चारडिंग नुल्लाह जंक्शन सहित पूर्वी लद्दाख में एक-एक करके गतिरोध के बाकी बचे बिंदुओं को उठाएंगे।

अगर हॉट स्प्रिंग्स से डी-एस्केलेशन पर दोनों पक्ष एक समझौते पर आने का फैसला करते हैं, तो मई 2020 की चीनी सैनिकों की आक्रामकता को पूर्वी लद्दाख में यथास्थिति के साथ ही उलट दिया जाएगा। अब तक लगभग पीएलए के 50 जवान गश्त बिंदु 15 पर अपनी स्थिति से आगे हैं और इतनी ही संख्या में भारतीय सेना के जवान भी उनका सामना कर रहे हैं।

हालांकि, पिछले साल की तुलना में दोनों पक्षों के बीच सैन्य स्थिति कम हो गई है। फिर भी पीएलए ने अभी भी दो से अधिक डिवीजनों और कई संयुक्त हथियार ब्रिगेडों को तैनात सीमा पर आगे की ओर तैनात कर रखा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *