चीन ने 19 देशों से लिया पंगा, खाद्य पदार्थों पर लगाया बैन, ये है कारण

ड्रैगन नहीं चाहता कि इन देशों से उसके यहां कोरोना वायरस वापस आए, तथा संक्रमण फिर से फैले।

नई दिल्ली॥ पूरी दुनिया में कोरोना वायरस फैलाने वाला ड्रैगन अब भी इस वायरस के फिर से हमले से डरा हुआ है। इसके चलते चीन ने पूरी दुनिया के 19 देशों के खिलाफ एक बड़ा कदम उठाया है।

shi jinping china

ड्रैगन नहीं चाहता कि इन देशों से उसके यहां कोरोना वायरस वापस आए, तथा संक्रमण फिर से फैले। वही चीन ने दो दिन पूर्व में पुरे विश्व के 19 देशों से खाद्य पदार्थों के आयात पर प्रतिबन्ध लगा दिया है। चीन इन देशों की 56 कोल्ड चेन फूड कंपनियों से अपने यहां हजारों टन खाद्य पदार्थ आर्डर करता था। लेकिन चीन में फिर से कोविड-19 महामारी का संक्रमण न फैले इस भय से उसने इन कम्पनियों के फूड्स को लेने से मना कर दिया है।

8 सितंबर मतलब मंगलवार को चाइना जनरल एडमिनिस्ट्रेश ऑफ कस्टम्स ने कहा कि इन 56 कंपनियों में से 41 कंपनियों ने स्वयं ही चीन को अपनी वस्तुएं न भेजने का सामूहिक निर्णय लिया था। जिसके बाद चीन की सरकार ने भी इन सबको आयात करने से पाबंदी दी है।

ड्रैगन 19 देशों की 56 कम्पनियों से फ्रोजन फूड्स आर्डर करता है, जिनमें सी-फूड्स, चिकन आदि सम्मिलित हैं। कोल्ड-चेन फूड्स का अर्थ होता है कि खाद्य सामग्री रेफ्रिजरेटर में फ्रोजेन तौर पर किसी देश भेजा जाए, जिससे वह कई वक्त तक सुरक्षित रहे। परन्तु ऐसे खाद्य सामग्रियों में कोरोना के संक्रमण का भय ज्यादा है। जिससे चीन डरा हुआ है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *