Jahangirpuri हिंसा में बन रहा था दिल्ली पुलिस का मददगार, सच सामने आया तो उड़ गए होश

पिछले महीने दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके (Jahangirpuri) में हनुमान जयंती के जुलूस के दौरान हुई सांप्रदायिक हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस एक बार फिर निशाने पर आ गई है. दरअसल, दिल्ली पुलिस जिस शख्स को हेल्पर के तौर पर साथ ले जा रही थी, वह असल में जहांगीरपुरी हिंसा का कथित मुख्य साजिशकर्ता निकला. मुख्य साजिशकर्ता तबरेज खान समेत तीन और आरोपियों को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने हिंसा के  गिरफ्तार किया है. सूत्रों के मुताबिक तबरेज का नाम दिल्ली दंगों में भी सामने आया था।

Jahangirpuri - violence
सूत्रों के मुताबिक जहांगीरपुरी (Jahangirpuri) हिंसा का यह आरोपी पथराव कर शांति का ‘रक्षक’ बन गया और आला पुलिस अधिकारियों के बीच घूमता रहा ताकि पुलिस को उस पर शक न हो. हालांकि मामले की जांच कर रही क्राइम ब्रांच ने शनिवार को तबरेज को गिरफ्तार कर लिया।

हिंसा के बाद उन्हें डीसीपी समेत तमाम आला अधिकारियों के आसपास देखा गया. उन्हें अक्सर मंच से लेकर सड़क तक इलाके की डीसीपी उषा रंगनानी के बगल में खड़े या बैठे देखा जाता था. इतना ही नहीं उसने शांति कायम करने का बहाना बनाकर इलाके (Jahangirpuri) में तिरंगा यात्रा का आयोजन भी किया था और इसके लिए पुलिस से पत्र लिखकर अनुमति भी ली थी.

चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहा था

बताया जा रहा है कि पहले तबरेज असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के सदस्य थे, लेकिन बाद में वह एआईएमआईएम छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गए। फिलहाल वह दिल्ली नगर निगम चुनाव की तैयारी कर रही थी। (Jahangirpuri violence)

Taj Mahal के 20 कमरों का खुलेगा राज़! इस दावे के साथ इलाहाबाद हाइकोर्ट में याचिका दाखिल

भारत में 24 घंटे में कोरोना के इतने नए मामले आए सामने, बढ़ गए सक्रिय केस

Munawar Faruqui ने जीता शो ‘Lock Upp’, असली जेल को लेकर कह दी ऐसी बात

बिहार में महिला सिंगर के साथ हुआ सामूहिक बलात्कार, आरोपियों ने इस तरह से जाल में फंसाया