Digital Payment: आज लांच होगा e-RUPI-रूपी, जानें कहां और कैसे इस्तेमाल किया जा सकेगा

मोदी सरकार आज से देश भर में डिजिटल पेमेंट के लिए एक नई व्यवस्था e-RUPI लांच करने जा जारी है। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम साढ़े चार बजे...

नई दिल्ली। मोदी सरकार आज से देश भर में डिजिटल पेमेंट (Digital Payment) के लिए एक नई व्यवस्था e-RUPI लांच करने जा जारी है। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम साढ़े चार बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये e-RUPI लॉन्च करेंगे। आज लांच होने वाला यह नया ऐप डिजिटल पेमेंट के लिए कैशलेस और कॉनटैक्ट लेस माध्यम है। ई-रुपी एक ऐसी व्यवस्था होगी जिसमें किसी योजना का फायदा पाने वाले और सर्विस प्रोवाइडर के बीच कोई और मध्यस्थ नहीं होगा क्योंकि सरकार की तरफ से वाउचर देने वाले की तरफ से ये सीधे लाभार्थी के मोबाइल पर भेजा जाएगा।

Digital Payment - Pm Modi

आज लांच होने वाला यह इलेक्ट्रॉनिक वाउचर पर आधारिक डिजिटल पेमेंट (Digital Payment) सिस्टम को नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा तैयार किया गया है। इसे परिवार कल्याण मंत्रालय, राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण, वित्तीय सेवा विभाग ने डेवलप किया है। गौरतलब है कि कुछ साल पहले तक लेन-देन के लिए सिर्फ कागज के नोट या सिक्कों का इस्तेमाल होता था जो आमने सामने से होता है। किसी भी शख्स को कुछ भी खरीदने के लिए कैश ही देना पड़ता था। इसके बाद कार्ड का जमाना आया। क्रेडिट और डेबिट कार्ड के माध्यम से किसी को भी पैसे ट्रांसफर किए जा सकते हैं।

अब पेटीएम, फोन-पे, गूगल-पे या भारत-पे जैसी डिजिटल पेमेंट (Digital Payment) एप आ गए है जिनके जरिये भुगतान किया जा सकता है। इस व्यवस्था में एक बात कॉमन है कि शख्स अपने पास मौजूद पैसों को कहीं भी खर्च कर सकता है लेकिन e-RUPI इन सबसे अलग है। ई-रुपी एक वाउचर की तरह होगा इसके अंतर्गत एक तय रकम जारी की जाएगी जिसे किसी खास मकसद पर ही खर्च किया जा सकेगा। यानी की सरकारी योजना में दिया गया पैसा अब उसी योजना का फायदा उठाने के लिए खर्च किया जा सकेगा।

ई-रुपी सरकार की कल्याणकारी योजनाओं की डिलीवरी सुनिश्चित करने के लिए ये एक क्रांतिकारी कदम सुनिश्चित हो सकता है। e-RUPI का इस्तेमाल मातृ और बाल कल्याण योजना, दवा मुहैया कराने वाली योजना, टीबी उन्मूलन कार्यक्रम, आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, खाद सब्सिडी योजना जैसी तमाम योजनाओं में जरूरतमंदों को फायदा पहुंचाने के लिए किया जा सकता है। यहां तक कि प्राइवेट सेक्टर के लोग भी अपने कर्मचारी कल्याणकारी कार्यक्रमों के तौर पर इन डिजिटल (Digital Payment) वाउचर का लाभ उठा सकते हैं.

Parliament Session: दोनों सदनों की कार्यवाही स्थगित, पेगासस जासूसी और कृषि कानूनों पर गतिरोध जारी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *