सर्दियों के मौसम में गर्मी भरपूर: ये 5 खास फूड्स जो सर्दी-जुकाम से करें छुट्टी

img

सर्दियों का मौसम हमारे लिए कई मायनों में आनंददायक होता है, लेकिन इसके साथ ही कुछ समस्याओं का सामना भी करना पड़ता है। सर्दी-जुकाम, खांसी, गले में खराश, सिरदर्द, नाक बहना, आँखों में जलन, पेट में उपद्रव, पाचन की कमी, कमजोरी, थकान, इम्यूनिटी का कम होना, आदि सर्दियों में हमें परेशान करते हैं।

इन समस्याओं से बचने के लिए हमें हमारे खान-पान पर ख़ास ध्यान देना होता है। सर्दियों में हमें ऐसे फ़ूड्स (Foods to Eat in Winter in Hindi) का सेवन करना चाहिए, जो हमारे शरीर को गर्म (Body Warm in Winter in Hindi) रखें, प्रतिरक्षा प्रणाली (Immunity System in Hindi) को मज़बूत (Strong Immunity in Hindi) करें, पाचन (Digestion in Hindi) को सुधारें, ताकत (Strength in Hindi) को बढ़ाएं, संतुलित (Balanced in Hindi) पोषण (Nutrition in Hindi) प्रदान करें, स्‍त्रेस (Stress in Hindi) को कम (Reduce Stress in Hindi) करें, नींद (Sleep in Hindi) को सुलभ (Easy Sleep in Hindi) करें, मूड (Mood in Hindi) को ख़ुश (Happy Mood in Hindi) करें, त्‍वचा (Skin in Hindi) को स्‍वस्‍थ (Healthy Skin in Hindi) करें, ह्रदय (Heart in Hindi) को सुरक्षित (Safe Heart in Hindi) करें, हड्डियों (Bones in Hindi) को मज़बूत (Strong Bones in Hindi) करें, मस्‍तिष्‍क (Brain in Hindi) को तेज़ (Sharp Brain in Hindi) करें, मधुमेह (Diabetes in Hindi) को नियंत्रित (Control Diabetes in Hindi) करें, वजन (Weight in Hindi) को कम (Reduce Weight in Hindi) करें, आदि।

इसलिए, हमने आपके लिए सर्दियों के मौसम में गर्मी भरपूर: ये 5 खास फ़ूड्स की सूची तैयार की है, जो सर्दी-जुकाम से करें छुट्टी।

1. अदरक

अदरक (Ginger in Hindi) सर्दियों का सुपरस्‍टार फ़ूड है, जो हमारे शरीर को गर्म रखता है, साथ ही साथ हमें कई बीमारियों से बचाता है। अदरक में जिंजेरोल (Gingerol in Hindi) नामक प्राकृतिक पदार्थ (Natural Substance in Hindi) पाया जाता है, जो सूजन (Inflammation in Hindi) को कम (Reduce Inflammation in Hindi) करने, प्रतिरक्षा प्रणाली (Immunity System in Hindi) को मज़बूत (Strong Immunity in Hindi) करने, पाचन (Digestion in Hindi) को सुधारने, स्‍त्रेस (Stress in Hindi) को कम (Reduce Stress in Hindi) करने, ह्रदय (Heart in Hindi) को सुरक्षित (Safe Heart in Hindi) करने, मस्‍तिष्‍क (Brain in Hindi) को तेज़ (Sharp Brain in Hindi) करने, मुंह के छालों (Mouth Ulcers in Hindi) को ठीक (Cure Mouth Ulcers in Hindi) करने, स्‍त्री-पुरुष की कामेच्‍छा (Sexual Desire in Hindi) को बढ़ाने, में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है।

सर्दियों में हमें अपनी फ़ल-सब्‍जी में, पराठे में, सलाद में, सौप में, पुलाव में, ख़िचड़ी में, पकोड़े में, हल्‍वा में, पुल्‍प में, पनीर में, कुल्‍फी में, कुल्‍हाड़ आदि में अदरक का प्रयोग करना चाहिए।

अदरक का सबसे लोकप्रिय और आसान तरीका है अदरक की चाय (Ginger Tea in Hindi) पीना, जो हमें गर्मी (Warmth in Hindi) और आराम (Comfort in Hindi) देती है। अदरक की चाय बनाने के लिए, हमें पानी (Water in Hindi) में अदरक के टुकड़े (Ginger Pieces in Hindi) डालकर उबालना (Boil in Hindi) होता है, फिर चीनी (Sugar in Hindi) या शहद (Honey in Hindi) मिलाकर मीठा करना (Sweeten in Hindi) होता है, और अंत में नींबू का रस (Lemon Juice in Hindi) या तुलसी के पत्ते (Tulsi Leaves in Hindi) मिलाकर स्‍वादिष्‍ट बनाना (Tasty in Hindi) होता है।

2. हल्‍दी


हल्‍दी (Turmeric in Hindi) सर्दियों का एक और महत्‍वपूर्ण फ़ूड है, जो हमें स्‍वस्‍थ्य, सुंदर, और सुरक्षित रखता है। हल्‍दी में कुरकुमिन (Curcumin in Hindi) नामक प्राकृतिक पेप्‍ताइड (Natural Peptide in Hindi) पाया जाता है, जो सूजन (Inflammation in Hindi) को कम (Reduce Inflammation in Hindi) करने, प्रतिरक्षा प्रणाली (Immunity System in Hindi) को मज़बूत (Strong Immunity in Hindi) करने, पाचन (Digestion in Hindi) को सुधारने, ह्रदय (Heart in Hindi) को सुरक्षित (Safe Heart in Hindi) करने, मस्‍तिष्‍क (Brain in Hindi) को तेज़ (Sharp Brain in Hindi) करने, मुंह के छालों (Mouth Ulcers in Hindi) को ठीक (Cure Mouth Ulcers in Hindi) करने, स्‍त्री-पुरुष की कामेच्‍छा (Sexual Desire in Hindi) को बढ़ाने, में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है।

सर्दियों में हमें हल्‍दी का प्रयोग कुल्‍हाड़ में, पुल्‍प में, पनीर में, कुल्‍हाड़ में, कुल्‍हाड़ में, कुल्‍हाड़ में, कुल्‍हाड़ में, कुल्‍हाड़ में, कुल्‍हाड़ में, कुल्‍हाड़ में, कुल्‍हाड़ में, कुल्‍हाड़ में, कुल्‍हाड़ में, कुल्‍हाड़ में, कुल्‍हाड़ में, आदि में अदरक के साथ मिलाकर खाना चाहिए ।

हल्‍दी का सबसे प्रसिद्ध और फायदेमंद तरीका है हल्दी-दूध (Turmeric Milk in Hindi) पीना, जो हमारे शरीर को निरोग (Disease-Free in Hindi) रखता है, साथ ही साथ हमें नींद (Sleep in Hindi) को सुलभ (Easy Sleep in Hindi) करता है। हल्दी-दूध बनाने के लिए, हमें गर्म-सा दूध (Warm Milk in Hindi) में हल्दी का पाउडर (Turmeric Powder in Hindi) डालकर मिलाना (Mix in Hindi) होता है, फिर चीनी (Sugar in Hindi) या शहद (Honey in Hindi) मिलाकर मीठा करना (Sweeten in Hindi) होता है, और अंत में काली मिर्च (Black Pepper in Hindi) या दालचीनी (Cinnamon in Hindi) मिलाकर स्‍वादिष्‍ट बनाना (Tasty in Hindi) होता है।

3. गुड़


गुड़ (Jaggery in Hindi) सर्दियों का एक मीठा और गुणकारी फ़ूड है, जो हमें कई फायदे देता है। गुड़ में आयरन (Iron in Hindi), कैल्शियम (Calcium in Hindi), मैग्नीशियम (Magnesium in Hindi), पोटेशियम (Potassium in Hindi), सोडियम (Sodium in Hindi), फ़ोस्‍फोरस (Phosphorus in Hindi), क्लोराइन (Chlorine in Hindi), सल्‍फर (Sulfur in Hindi), कॉपर (Copper in Hindi), ज़िंक (Zinc in Hindi), मैंगनीस (Manganese in Hindi), सेलेनियम (Selenium in Hindi), आदि पोषक तत्‍व (Nutrients in Hindi) पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर के लिए आवश्‍यक हैं।

सर्दियों में हमें गुड़ का सेवन करने से हमें कुछ फ़ायदे मिलते हैं, जैसे कि:

हमारे शरीर को गर्म (Body Warm in Winter in Hindi) रखता है, क्‍योंकि गुड़ में तापमान प्रतिरोधक प्रक्रिया (Thermogenic Process in Hindi) होती है, जो हमारे मेटाबोलिज्‍म को बढ़ाती है, और हमें स्‍नेह प्रदान करती है ।

हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली (Immunity System in Hindi) को मज़बूत (Strong Immunity in Hindi) करता है, क्‍योंकि गुड़ में प्राकृतिक एंटी-बैक्टीरियल, प्राकृतिक एंटी-वायरल, प्राकृतिक एंटी-सेप्टिक, प्राकृतिक एंटी-हिस्टामीन, प्राकृतिक एंटी-प्योरेटिक, प्राकृतिक एंटी-स्‍पस्‍मोलिटिक, प्राकृतिक एंटी-न्युरल्जिक, प्राकृतिक एंटी-हेल्‍मिंथ, प्राकृतिक एंटी-कोलेस्‍ट्रोल, प्राकृतिक एंटी-कैन्‍सर, आदि प्राकृतिक एंटी-ऑक्‍सीडेंट (Natural Antioxidant in Hindi) पाए जाते हैं, जो हमें सर्दी-जुकाम (Cold and Cough in Hindi), खांसी (Cough in Hindi), गले में खराश (Sore Throat in Hindi), नाक बहना (Runny Nose in Hindi), सिरदर्द (Headache in Hindi), आँखों में जलन (Burning Eyes in Hindi), पेट में उपद्रव (Stomach Upset in Hindi), पाचन की कमी (Digestion Problem in Hindi), कमजोरी (Weakness in Hindi), थकान (Fatigue in Hindi), इम्यूनिटी का कम होना (Low Immunity in Hindi), आदि से बचाते हैं।

हमारा पाचन (Digestion in Hindi) को सुधारता है, क्‍योंकि गुड़ में प्राकृतिक प्रो-बायोटिक (Natural Probiotic in Hindi) पाए जाते हैं, जो हमारे पेट के अच्‍छे बैक्टीरिया (Good Bacteria in Hindi) को बढ़ाते हैं, और हमें कब्‍ज (Constipation in Hindi), गैस (Gas in Hindi), पेट फूलना (Bloating in Hindi), पेट में दर्द (Stomach Pain in Hindi), पेट में जलन (Heartburn in Hindi), पेट में अल्‍सर (Ulcer in Stomach in Hindi), पेट में संक्रमण (Infection in Stomach in Hindi), पेट में सूजन (Inflammation in Stomach in Hindi), आदि से मुक्‍ति देते हैं।

4. गाजर


गाजर (Carrot in Hindi) सर्दियों का एक रंगीन और पौष्टिक फ़ूड है, जो हमें कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ देता है। गाजर में बीटा-कैरोटीन (Beta-Carotene in Hindi), विटामिन A (Vitamin A in Hindi), विटामिन C (Vitamin C in Hindi), विटामिन K (Vitamin K in Hindi), विटामिन B6 (Vitamin B6 in Hindi), फाइबर (Fiber in Hindi), पोटेशियम (Potassium in Hindi), मैंगनीस (Manganese in Hindi), कॉपर (Copper in Hindi), फोलेट (Folate in Hindi), ल्यूटीन (Lutein in Hindi), ज़ियाज़ांथीन (Zeaxanthin in Hindi), आदि पोषक तत्‍व (Nutrients in Hindi) पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर के लिए आवश्‍यक हैं।

सर्दियों में हमें गाजर का सेवन करने से हमें कुछ फ़ायदे मिलते हैं, जैसे कि:

हमारी आँखों की रोशनी (Eyesight in Hindi) को सुधारता है, क्‍योंकि गाजर में बीटा-कैरोटीन (Beta-Carotene in Hindi) पाया जाता है, जो हमारे शरीर में विटामिन A (Vitamin A in Hindi) में परिवर्तित होता है, और हमारे नेत्र कोसिकाओं (Eye Cells in Hindi) को पोषित (Nourish in Hindi) करता है, और हमें नक्‍सीर, सुक्‍हे आँखें, नीला-पीला प्रकाश, रात में कम दिखना, , कम्‍प्‍लीक प्रकाश, , आदि से बचाता है।

हमारी त्‍वचा को स्‍वस्‍थ (Healthy Skin in Hindi) करता है, क्‍योंकि गाजर में ल्यूटीन (Lutein in Hindi) और ज़ियाज़ांथीन (Zeaxanthin in Hindi) पाए जाते हैं, जो हमारी त्‍वचा के सेल्स (Cells in Hindi) को सुरक्षित (Protect in Hindi) करते हैं, और हमें त्‍वचा के संक्रमण (Skin Infection in Hindi), त्‍वचा के दाग-धब्‍बे (Skin Spots in Hindi), त्‍वचा की झुर्रियां (Skin Wrinkles in Hindi), त्‍वचा की झाइयां (Skin Blemishes in Hindi), त्‍वचा की सूजन (Skin Inflammation in Hindi), त्‍वचा की खुजली (Skin Itching in Hindi), त्‍वचा का रंग साफ (Clear Skin Tone in Hindi), , आदि से निजात देते हैं।

हमारी हड्डियों को मज़बूत (Strong Bones in Hindi) करता है, क्‍योंकि गाजर में कैल्शियम (Calcium in Hindi) और विटामिन K (Vitamin K in Hindi) पाए जाते हैं, जो हमारी हड्डियों के संरचना (Structure in Hindi) और मज़बूती (Strength in Hindi) को सुधारते (Improve in Hindi) हैं, और हमें हड्डी के टूटने (Bone Fracture in Hindi), हड्डी के दर्द (Bone Pain in Hindi), हड्डी के सूजन (Bone Inflammation in Hindi), हड्डी के संक्रमण (Bone Infection in Hindi), हड्डी के घुसने (Bone Erosion in Hindi), हड्डी के प्रकार (Bone Density in Hindi), , आदि से बचाते हैं।

5. गोंद कतीरा


गोंद कतीरा (Tragacanth Gum in Hindi) सर्दियों का एक विशेष फ़ूड है, जो हमें अनोखे फायदे देता है। गोंद कतीरा एस्ट्रागलस (Astragalus in Hindi) नामक पौधे (Plant in Hindi) के स्‍तंभ (Stem in Hindi) से प्राप्‍त होता है, जो पाकिस्‍तान, अफगानिस्‍तान, ईरान, इराक, सीरिया, लेबनान, तुर्की, यूनान, इस्‍राइल, मिस्र, सौदी अरब, मोरक्‍को, सुडान, लीबिया, तुनिशिया, अल्जीरिया, मॉरीटेनिया, माली, नाइजर, नाइजीरिया, , आदि देशों में पाया जाता है।

सर्दियों में हमें गोंद कतीरा का सेवन करने से हमें कुछ फ़ायदे मिलते हैं, जैसे कि:

हमारे शरीर को ठंड से बचाता है, क्‍योंकि गोंद कतीरा में प्राकृतिक प्रो-हेल्‍मिंथ (Natural Pro-Helminth in Hindi) पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर में हीट प्रोडक्‍सन (Heat Production in Hindi) को बढ़ाते हैं, और हमें हिपोथर्मिया (Hypothermia in Hindi), हीप्‍स (Hives in Hindi), हीप्‍स (Hives in Hindi), , आदि से बचाते हैं।

हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली (Immunity System in Hindi) को मज़बूत (Strong Immunity in Hindi) करता है, क्‍योंकि गोंद कतीरा में प्राकृतिक प्रो-प्लेटलेट (Natural Pro-Platelet in Hindi), प्राकृतिक प्रो-लेउकोसाइट (Natural Pro-Leukocyte in Hindi), प्राकृतिक प्रो-लिम्फोसाइट (Natural Pro-Lymphocyte in Hindi), , प्राकृतिक प्रो-मैक्रोफेज** (Natural Pro-Macrophage in Hindi), , प्राकृतिक प्रो-न्युत्रोफिल** (Natural Pro-Neutrophil in Hindi), , प्राकृतिक प्रो-बैसोफिल** (Natural Pro-Basophil in Hindi), , प्राकृतिक प्रो-एजोसीनोफिल** (Natural Pro-Eosinophil in Hindi), , प्राकृतिक प्रो-मोनोसाइट** (Natural Pro-Monocyte in Hindi), , प्राकृतिक प्रो-बी-सेल** (Natural Pro-B-Cell in Hindi), , प्राकृतिक प्रो-टी-सेल** (Natural Pro-T-Cell in Hindi), , प्राकृतिक प्रो-नेचुरल किलर सेल** (Natural Pro-Natural Killer Cell in Hindi), , आदि प्राकृतिक प्रो-इम्‍यून सेल (Natural Pro-Immune Cell in Hindi) पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर के रक्त को साफ़ (Clean Blood in Hindi) करते हैं, और हमें संक्रमण (Infection in Hindi), सूजन (Inflammation in Hindi), बुखार (Fever in Hindi), दर्द (Pain in Hindi), लाल दाने (Red Spots in Hindi), लाल दाने (Red Spots in Hindi), , आदि से बचाते हैं।
 

Related News